Breaking News

“हमारा दिल भारत के साथ है…”: गुजरात ब्रिज त्रासदी पर जो बाइडन

बाइडन ने एक बयान में कहा, ‘‘आज, हमारा दिल भारत के साथ है. जिल और मैं गुजरात के लोगों के शोक में उनके साथ हैं और उन परिवारों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करते हैं जिन्होंने पुल टूटने के चलते अपने प्रियजनों को खो दिया.’’

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने गुजरात के मोरबी शहर में एक पुल टूटने से जान गंवाने वाले लोगों के परिवारों के प्रति सोमवार को गहरी संवेदना जतायी. एक सदी से भी अधिक पुराने पुल को व्यापक मरम्मत और नवीनीकरण के बाद पांच दिन पहले आम लोगों के लिए फिर से खोला गया था. हालांकि रविवार शाम को पुल पर अत्यधिक संख्या में लोगों के होने से पुल टूट गया और हादसे में अब तक 130 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. बाइडन ने एक बयान में कहा, ‘‘आज, हमारा दिल भारत के साथ है. जिल और मैं गुजरात के लोगों के शोक में उनके साथ हैं और उन परिवारों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करते हैं जिन्होंने पुल टूटने के चलते अपने प्रियजनों को खो दिया.”

उन्होंने कहा, ‘‘अमेरिका और भारत अपरिहार्य साझेदार हैं, हमारे नागरिकों के बीच गहरे संबंध हैं. इस कठिन घड़ी में हम भारतीयों के साथ खड़े रहेंगे और उनका समर्थन करना जारी रखेंगे.” प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रत्येक मृतक के परिजनों के लिए प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष (पीएमएनआरएफ) से दो-दो लाख रुपये और प्रत्येक घायल को 50-50 हजार रुपये की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की है. गुजरात सरकार ने मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये और घायलों को 50-50 हजार रुपये मुआवजा देने की घोषणा की है.

गुजरात के मोरबी में पुल गिरने के हादसे के एक दिन बाद पुल की मरम्मत करने वाली कंपनी ओरेवा के 2 अधिकारियों सहित 9 लोगों को गिरफ्तार किया गया. गिरफ्तारी की पुष्टि राजकोट रेंज के आईजी अशोक यादव ने की है.