हत्या के आरोपियों को आजीवन कारावास

नरसिंहपुर। विशेष न्यायाधीश अनुसूचित जाति और अनुसूचित जन जाति अत्याचार निवारण अधिनियम नरसिंहपुर आनंद कुमार तिवारी के न्यायालय ने हत्या के एक मामले में पांच आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है तथा दो-दो हजार रूपये के अर्थदण्ड से दण्डित किया है। वही एक आरोपी पर आरोप प्रमाणित न होने पर दोष मुक्त किया है।
अभियोजन के अनुसार ठेमी थानान्तर्गत नयागांव एवं धमना के मध्य नारद पटेल के खेत के पास 10 अक्टूबर 2015 को सुबह लगभग 10 बजे मृतक सरदार सिंह जारोलिया की हत्या धारदार हथियारों से कर दी गई थी। इसकी शिकायत मृृतक के पुत्र व्यास उर्फ गुड्डा जारोलिया ने थाना ठेमी में दर्ज कराई थी जिसमें रामस्वरूप उर्फ रम्मू पटेल पिता स्व. राजबल पटैल 47 वर्ष, भरत सिंह पटैल पिता केशव सिंह पटेल 32 वर्ष, लाखनसिंह पिता स्व. राजबल पटैल 43 वर्ष आशीष पिता रामस्वरूप लोधी 23 वर्ष टाबलसिंह पिता गेंदसिंह लोधी 53 वर्ष रमेश वल्द राजाराम पटैल 54 वर्ष सभी निवासी नयागांव थाना ठेमी तहसील व जिला नरसिंहपुर को अभियुक्त बनाया गया था। इस मामले में पुलिस ने अपराध क्रमांक 09/2015 धारा 147, 148, 149, 341, 506, 302 भादवि 1180 एवं धारा 25 आर्म्स एक्ट तथा धारा 3(2-5) अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम 1989 के तहत मामला पंजीबद्ध किया गया था। इस मामले में निर्णय सुनाते हुए न्यायाधीश ने पांच आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई तथा 2-2 हजार रूपये के अर्थदण्ड से दण्डित किया। वही एक आरोपी रमेश पटैल को आरोप सिद्ध न होने पर दोषमुक्त कर दिया। अभियोजन की ओर से पैरवी विशेष लोक अभियोजक सूर्यप्रतापसिंह ने जबकि रमेश पटैल की ओर से एडव्होकेट सुधेश वैघ, शैलेष पुरोहित एवं महेन्द्र कौरव ने पैरवी की।
संवाददाता आकाश कौरव

(राष्ट्रीय संभव सन्देश के व्हाट्सएप ग्रुप में ऐड होने के लिए Click यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, और यूट्यूब पर फ़ाॅलो भी कर सकते हैं.)

WhatsApp chat