रिंकू शर्मा हत्याकांड का खुलासा

 

डीएसपी अनिल मीणा ओर सीआई रामेश्वर भाटी टीम ने महज़ 24 घण्टे में किया खुलासा

रुपयों का लेन-देन व तंत्र-मंत्र बने मौत का कारण

टोन-टोटके व ब्याज़ पर रुपए देने का कार्य धड़ल्ले से हो रहा है मेवाड़-वागड में

सागवाड़ा। क्षेत्र के कंडोला मोड़ पर मिली रिंकू शर्मा की लाश हत्या या दुर्घटना के राज का पर्दा-फ़ाश कर डीएसपी अनिल मीणा, सीआई रामेश्वर भाटी, आसपुर थानाधिकारी परमेश्वर पाटीदार व टीम में महज़ 24 घण्टे में आरोपियों को गिरफ़्तार कर लिया।
पुलिस सूत्रों के अनुसार मृतक रिंकू शर्मा
पारिवारिक समस्याओं से जूझ रही थी जिसको लेकर वो टोन-टोटकों के चक्कर मे आई और उसका सम्पर्क प्रदीप कुमार पुरोहित (49)पिता हीरालाल पुरोहित निवासी पादरड़ी बड़ी(सागवाड़ा) से
हुआ। जो टोन-टोटकों के जरिए समस्याओं का समाधान करने का झांसा देकर लोगो से मनमानी धन राशि वसूलता है। रिंकू को डराने उसने मन घडत तरीको से उसके घर में भी टोटके किए ओर उससे रुपए वसूलता रहा। प्रदीप का एक ओर साथी किरणदीप (32) पिता रेवाशंकर व्यास निवासी पादरड़ी बड़ी (सागवाड़ा)
भी उसके साथ जाता था। रिंकू ने भूपेंद्र जैन (49) पिता बदीचंद जैन निवासी करियाणा(सागवाड़ा) जो साबला(आसपुर) में आदर्श सेकेंडरी स्कूल चलाता है से रुपए उधार ले रखे थे जो रुपयों का बार-बार तकाज़ा कर रहा था वही प्रदीप भी रिंकू से मौके का फ़ायदा उठा रुपए वसूल रहा था। शातिर दिमाग़ प्रदीप पुरोहित ने भूपेंद्र जैन से मिलकर रिंकू की हत्या का षड्यंत्र रचा। जिसमे किरनकुमार को एक लाख रुपए देने का लालच दिया। प्रदीप ने रिंकू से बड़ा टोटका करने की एवज़ में एक लाख रुपए ले लिए। तथा शनिवार व रविवार रात्रि को टोटके का समय तय किया। रिंकू 2 फरवरी शनिवार रात्रि को अकेले प्रदीप के घर पादरड़ी आई जिसके बाद रिंकू अगले दिन 3 फरवरी रविवार को अकेले कार द्वारा कंडोला पुल के पास रात्रि को आई वहां प्रदीप ओर किरनकुमार बाइक द्वारा पुलिए पर पहुँचे। भूपेंद्र जैन ने अपने स्कूल के कर्मचारी कपिल वनोत(31) पुत्र रमेशचन्द्र वनोत को किरणदीप के घर भेज दिया। योजना के मुताबिक़ प्रदीप व किरणदीप रिंकू को पुलिए के नीचे टोटका करने ले गए ओर रिंकू को आंखे बंद कर बैठने को कहा रिंकू ने बैठकर जैसे ही आंखे बंद की किरणदीप ने रिंकु के सिर पर जोर से लकड़े से वार कर घायल किया, ओर फिर  किरणदीप व प्रदीप ने पत्थर से उसका सिर कुचल कर कार में बैठा कार को पुलिए से धकेल कर इस हत्या को दुर्घटना का रूप दिया।
कपिल ने भूपेंद्र के घर पहुँच उसे घटना की जानकारी दी। मृतका रिंकू की पुत्री ने उसकी मां के घर नही पहुँचने पर
प्रदीप व भूपेंद्र को फोन किया जिस पर तीनों उसके घर पहुँच उसकी पुत्री को अपने घर ले आए और दूसरे दिन मौके पर भी उपस्थित रहे। मृतका की पुत्री भूपेंद्र के स्कूल में अध्ययनरत है।
By-kailashsingh

WhatsApp chat