संदीप हत्याकांड का फरार आरोपी गिरफ्तार

 

मध्यप्रदेश के इंदौर शहर में हुए कारोबारी संदीप अग्रवाल हत्याकांड में फरार आरोपी, रोहित सेठी पुत्र प्रकाश चंद्र सेठी को देहरादून पुलिस ने धर दबोचा है। फरार आरोपी के पास से पुलिस को अवैध चरस भी बरामद हुई। अब आरोपी को अदालत में पेश किया जाएगा। अदालत के आदेश के बाद ही आरोपी को इंदौर लाया जाएगा। रोहित के पास से पुलिस को तकरीबन 112 ग्राम चरस बरामद हुई है जिसकी कीमत 15 हजार रुपए बताई जा रही है।

दरअसल देहरादून पुलिस नशे के खिलाफ अभियान चला रही है। वहीं देहरादून पुलिस को एक मुखबिर से सूचना मिली कि, एक शख्स अवैध चरस के साथ दीनदयाल पार्क बस स्टेंड पर बैठा हुआ है। मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने रोहित को बस स्टेंड से गिरफ्तार कर लिया। रोहित के खिलाफ नगर थाना कोतवाली ने एनडीपीएस (NDPS)  के तहत मामला दर्ज कर लिया है। वहीं 43 वर्षीय रोहित से देहरादून पुलिस द्वारा पूछताछ में पता चला कि वह इंदौर मध्यप्रदेश का निवासी है, और उस पर विजयनगर थाना, इंदौर में हत्या का मुकदमा चल रहा है। उसी केस में गिरफ्तारी से बचने के लिए वह करीब एक माह से इधर उधर घूम रहा है।

देहरादून पुलिस की पूछताछ में रोहित ने बताया कि, उसका केबल का व्यवसाय है, और इंदौर में करीब 70 प्रतिशत कस्टमर उसी के है। उसने कहा कि बाकी ग्राहक अन्य केबल ऑप्टरर्स के है, इसी को लेकर अन्य ऑपरेटर्स उससे जलते हैं। वहीं तकरीबन एक माह पहले एक केबल ऑपरेटर की शूटरों द्वारा हत्या कर दी गई थी, जिसमें शूटर्स को पकड़ने में इंदौर पुलिस को सफलता मिल चुकी है। हालांकि हत्याकांड में रोहित सेठी को भी वांछित किया गया था, और तभी से वह फरारी काट रहा है। इसके बाद रोहित ने कहा, “इससे पहले मैं हरिद्वार में एक आश्रम में रुका हुआ था, करीब 15 दिन पहले सीढ़ी से उतरते समय पैर फिसलने से नीचे गिरने पर दाहिना हाथ फ्रैक्चर हो गया।” उसने कहा कि वह पहले से चरस पीने का शौकीन था, लेकिन पहले कभी-कभी ही चरस पीता था। वहीं उसने कहा कि, जब से केस लगा तो रोज़ चरस पीने लगा। उसने बताया कि, बरामद चरस हरिद्वार के आश्रम के एक बाबा से उसने 15000 रुपए में खरीदी थी। वह एक महीने से बहुत डिप्रेशन में चल रहा था।

रोहित ने बताया कि वह 24 फरवरी को अपना चेकअप कराने मैक्स हॉस्पिटल देहरादून आया था, और वहां से वापस हरिद्वार जाते वक़्त पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। वहीं लगातार फरार होने की स्थिति में उक्त अभियुक्त की गिरफ्तारी हेतु वर्तमान मे मध्य प्रदेश सरकार की तरफ से 30,000 रुपये का इनाम घोषित किया गया है। हालांकि गिरफ्तारी की सूचना इंदौर पुलिस को दे दी गई है और अग्रिम कार्यवाही हेतु इंदौर पुलिस देहरादून के लिए रवाना हो गई है।

WhatsApp chat