सांसद हेतु भाजपा-कांग्रेस में चली उम्मीदवारी

डूँगरपुर। लोकसभा चुनाव-2019 को लेकर डूँगरपुर-बांसवाडा संसदीय क्षेत्र से अब प्रत्याशियो ने अपनी उम्मीदवारी की रिपोर्ट पार्टी अलाकमान को प्रस्तुत कर दी है।
डूँगरपुर-बांसवाडा से कांग्रेस में अब तक कि परम्परानुसार एक बार बांसवाडा ओर दूसरी बार डूँगरपुर जिले का नम्बर रहता है 2015 के लोकसभा चुनाव में बांसवाडा स्व रेशम मालवीया प्रत्याशी थी तो इस बार डूँगरपुर का नम्बर है। भाजपा में ऐसी कोई परम्परा नही है जिसमे प्रत्याशियो के चयन की स्वतंत्रता है बस योग्य प्रत्याशी की ही तलाश रहती है 2015 के लोकसभा चुनाव में बांसवाडा से मानशंकर निनामा प्रत्याशी थे जी वर्तमान में सांसद है।
डूँगरपुर जिले में बिटीपी भाजपा और कांग्रेस दोनों के लिए ही मुसीबत बनी हुई है। ऐसे में बिटीपी के क्षेत्र में दबदबा रखने वाले प्रत्याशियो में चयन होने लगा है। विधानसभा चुनाव 2018 में डूँगरपुर जिले से कांग्रेस की 1 सीट ही जितना पार्टी अलाकमान भी गंभीरता से ले रहा है।
वहीँ कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कारीलाल मीणा सरल स्वभाव के व्यक्तित्व वाले है जिन्होंने ने क्षेत्र में अपनी पकड़ को मजबूत करने की तैयारी में कर ली है। पिछले दिनों दिल्ली से लौटे कारीलाल ने अपना बायोडाटा भी पार्टी अलाकमान को प्रस्तुत कर अपने दावेदारी जताई है।
भाजपा से पूर्व शिक्षा उप निदेशक कांतिलाल डामोर भी तैयारी में जुटे है भाजपा से उनकी उम्मीदवारी 2018 के विधानसभा चुनाव में भी रही जिससे पार्टी अलाकमान भी अब सोंच-समझ कर ही निर्णय ले रहा है। डामोर ने बताया कि अगर उन्हें प्रत्याशी बनाया जाता है तो वें पूरी ताकत से यह सीट भाजपा की झोली में डालेंगे।
By-kailashsingh

WhatsApp chat