विपक्षी दलों को झटका: EC ने काउंटिंग से पहले VVPAT-EVM के मिलान की मांग को ठुकराया

नई दिल्ली: चुनाव आयोग ने अपनी बैठक के बाद 22 विपक्षी पार्टियों की उस मांग को ठुकरा दिया है, जिसमें उन्होंने कहा था कि काउंटिंग से पहले वीवीपैट (VVPAT) की पर्चियों को गिना जाए. मंगलवार को देश की 22 मुख्य विपक्षी पार्टियों के नेताओं ने चुनाव आयोग के सामने ये मांग रखी थी कि काउंटिंग से पहले वीवीपैट के पर्चियों की गिनती हो, पर्ची और ईवीएम में समानता ना होने पर पूरी विधानसभा के वीवीपैट के पर्चियों को गिना जाए. हालांकि अब आयोग ने विपक्षी दलों की मांग को ठुकराकर ये साफ कर दिया है कि VVPAT पर्ची मिलान की प्रक्रिया में कोई बदलाव नहीं किया जाएगा. अभी और जानकारी का इंतज़ार है.

विपक्षी ने मंगलवार को EC से की थी मुलाकात 

मंगलवार को विपक्षी दलों ने चुनाव आयोग जाकर अपनी मांग उनके सामने रखी थी. विपक्ष ने मांग की थी कि काउंटिंग से पहले वीवीपैट के पर्चियों की गिनती हो, पर्ची और EVM में समानता ना होने पर पूरी विधानसभा के VVPAT के पर्चियों को गिना जाए. यही नहीं, सभी दलों ने आयोग के सामने देश के तमाम हिस्सों से ईवीएम को लेकर आ रही खबरों पर भी अपनी बात रखी थी. विपक्षी पार्टियों ने आयोग के सामने मांग रखी कि एक विधानसभा में जिन पांच VVPAT की पर्चियों का मिलान होना है, उन्हें काउंटिंग से पहले गिना जाए.

19 मई रविवार को आखिरी चरण की मतगणना हुई थी, जिसके बाद से देशभर के कई हिस्सों से ईवीएम से जुड़ी कई खबरें आईं. कुछ वीडियो भी सामने आए. स्ट्रॉन्ग रूम की सुरक्षा पर भी सवाल खड़े किए गए. इन सब के आधार पर विपक्षी दलों ने ईवीएम से छेड़छाड़ की आशंका ज़ाहिर की. हालांकि मंगलवार को भी चुनाव आयोग ने इन तमाम आरोपों को नकार दिया. इस बीच नतीजे आने से पहले ईवीएम और वीवीपीएटी के मुद्दे पर कांग्रेस, एसपी, बीएसपी, तृणमूल कांग्रेस सहित सभी प्रमुख विपक्षी दलों के नेताओं ने चुनाव आयोग का रुख किया.

नेता कर रहे हैं स्ट्रॉन्ग रूम का दौरा
ईवीएम को लेकर इतना हंगामा मचा हुआ है कि विपक्षी दल के नेता ईवीएम के लिए चौकीदार बन गए हैं. कई नेताओं ने कल अपने-अपने लोकसभा सीटों के स्ट्रॉन्ग रूम का दौरा किया. भोपाल से कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह कल रात स्ट्रॉन्ग रूम का जायजा लेने पहुंचे. यूपी के फतेहपुर सीकरी से कांग्रेस उम्मीदवार राज बब्बर ने भी स्ट्रॉन्ग रूम की सुरक्षा जांची. इसके अलावा मेरठ से महागठबंधन उम्मीदवार हाजी याकूब भी स्ट्रॉन्ग रूम का दौरा करने पहुंचे. जबकि बिहार के वैशाली में महागठबंधन उम्मीदवार शिवचंद्र राम तो स्ट्रॉन्ग रूम के बाहर डेरा डालकर बैठे हुए हैं.ओपी रावत ने कहा ईवीएम में छेड़छाड़ संभव नहीं
ईवीएम पर खूब सवाल उठ रहे हैं, लेकिन पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त ओ पी रावत ने कहा कि ईवीएम में छेड़ छाड़ और बदलना संभव ही नहीं है. नई ईवीएम में थोड़ी भी छेड़छाड़ करने से मशीन फैक्टी मोड में चली जाती है. इसलिए छेड़छाड़ संभव नहीं है.

WhatsApp chat