मोतीझील मे मूर्ति विसर्जन के बाद अब पानी मे नहीं डूबती मूर्ति

मोतिहारी,11-2-19,अशोक वर्मा ।कश्मीर के डलझील समान खुबशुरती मे अपनी विशेष पहचान बनाने वाली मोतीझील मे शहर भर के कचरे लंबे समय से  गिरने के कारण उसकी गहराई काफी कम हो गई है।प्रदूषित जल के कारण झील की मछलियाँ मर कर सडांध फैला रही है।इस वर्ष वर्षांत कम होने से झील मे पानी काफी कम हो चूकी है।झील के दोनो किनारे की काफी जमीन अतिक्रमित है।उस को अतिक्रमण मुक्त कराने मे जिला प्रशासन अपने को असफल साबित कर चूकी है।इस वर्ष सरस्वती पूजा के बाद मूर्ति विसॅजन का दृश्य मन को झकझोरने वाला बन गया।कम पानी  के कारण मूर्तियाँ डूब नही पाई और पानी मे आधी अधूरी डूबे मूर्तियों के चीरहरण समान बना दृश्य आम लोगों को विचलित कर गया।

WhatsApp chat