83वीं त्रिमूर्ति शिव जयंती और होली मिलन महोत्सव

मोतिहारी ,19-3-19,शोक वर्मा।प्रसिद्ध तीर्थ स्थल अरेराज धाम के पानी टंकी मुहल्ला मे वरिष्ठ ब्रह्मकुमार बीके विश्वनाथ भाई के आवास पर संचालित ब्रह्माकुमारीज गीता पाठशाला मे आयोजित 83वीं त्रिमूर्ति शिवजयंती और होली मिलन समारोह का उद्घाटन बरिष्ठ राजयोगिनी बीके मीना बहन ने किया।उस अवसर पर शिव जयंती के आध्यात्मिक रहस्य पर प्रकाश डालते हुए उद्घाटनकर्ता ने कहा कि दुनिया मे पापाचार ,अत्याचार,अनाचार, आदि जब पराकाष्ठा पर चला जाता है और कानून पर कानून बनने लगे लेकिन उसका असर होना बंद हो जाय, मूल्य विहीन समाज हो जाये ,घर- घर मे महाभारत होने लगे तब निराकार परमपिता परमात्मा शिव बाबा अवतरित होते है और साधारण तन का आधार लेकर पतित और अंधियारे वाली दुनिया को बदलकर नई दुनिया का निर्माण करते हैं।इस महान कार्य का यादगार है शिव जयंती ।यह कार्य प्रत्येक पांच हजार वर्ष पर होता है।।बीके अशोक वर्मा  ने कहा कि भारत कभी  सोने की चिड़िया था,दूध की नदियां यहां बहती थी ,बहुत जल्द अपना भारत अब पून:अपने आदि स्वरूप मे आने जा रहा है।बहुत जल्द भारत विश्व गुरु  बनने जा रहा है।बीके रामधार भाई ने आत्मा पर विस्तार से प्रकाश डाला।बीके विभा ने कहा कि परमात्मा से योग लगाकर कोई भी अपने जीवन को खुशहाल बना सकता है।कार्यक्रम के दुसरे चरण मे आयोजित होली मिलन मे सभी समर्पित भाई बहनो  को पाठशाला की ओर से विश्वनाथ भाई की युगल ने सम्मानित किया।कार्यक्रम  के समापन पर बीके मीना बहन,बीके अशोक भाई,बीके विश्वनाथ भाई,बीके विभा बहन,बीके मीरा बहन बीके रामअधार भाई ने शिव ध्वजारोहण किया।

WhatsApp chat