राष्ट्रपति सम्मान प्राप्त शिक्षक जागाराम शास्त्री शिक्षक के अवकाश ग्रहण पर विदाई

 

छौडादानो ,मोतिहारी,8-2-19,अशोक वर्मा ।बनकटवा प्रखंड के जोलगांवा मध्य विधालय के प्रधानाध्यापक जागाराम शास्त्री के अवकाश ग्रहण पर स्कूल की ओर से उनकी प्रतिष्ठा मे भव्य विदाई एवं सम्मान समारोह का आयोजन किया गया।अध्यक्षता करते हुए पूर्व प्राध्यापक एवं माध्यमिक संघ शिक्षक नेता धनेश्वर दुबे ने कहा कि जिस प्रकार मनुष्य के संपूर्ण जीवन के उसके कृतित्व को दुनिया लंबे समय तक याद करती है उसी प्रकार शिक्षक की शिक्षासेवा एवं दान हमेंशा यादगार बनता है।जागाराम शास्त्री इसके एक जीवंत उदाहरण हैं।इन्होंने दो मोर्चे पर कार्य किए है।एक तो इमानदारी पूर्वक शिक्षक धर्म का पालन किया और दुसरा स्कूलअवधि के बाद दलित जागृति और उनके अंदर शिक्षा का अलख भी जगाया है।यही कारण है कि स्कूल के सभी छात्र छात्राओं के अलांवा समाज का हर तबका इनका सम्मान करता है।संचालन के दौरान शिक्षक महिपाल मिश्रा ने कहा कि भल शास्त्री जी नौकरीपेशा से अवकाश पर जा रहे हैं,लेकिन अपने स्वभाव अनुसार वे हमेंशा हीं शिक्षा का अलख जगाते रहेंगे।शिक्षक की नौकरी को सर्वश्रेष्ठ नौकरी बताते हुए उन्होंने कहा कि अगर शिक्षक अपने धर्म पर इमानदारी पूर्वक चलें तो समाज का नैतिक पतन नहीं होगा।शास्त्री जी इसके उदाहरण है।अवकाश ग्रहण के अपने विदाई समारोह को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति सम्मान प्राप्त प्राधानाचायॅ जागाराम शास्त्री ने कहा कि एक शिक्षक अगर चाहे तो बहुत कुछ कर सकता है।उसे वरदानी अवसर मिलता है।अन्य नौकरियों मे वतॅमान व्यवस्था मे अनेक विसंगतियां है।बाबा साहब ने कहा है कि शिक्षित बनो स्वावलंबी बनो।मैं  इसी सिद्धांत पर चलने और चलाने का प्रयास किया हूं।विदाई समारोह मे काफी  संखया मे स्कूल के छात्र छात्राएं और गण मान्य लोग उपस्थित थे तथा सम्मान का चादर ओढाया एवं अन्य उपहार जागाराम शास्त्री को भेंट किया।  उपस्थित होने वालों मे मुख्य रूप से सत्यनारायण हाजरा,हारुण आलम,जनार्दन पाण्डेय,ओम प्रकाश ,मोईन अंसारी ,राजकिशोर,किरण राम,नगीना राम,रामबाबू राम एवं अन्य थे।

WhatsApp chat