कांग्रेस ने भाजपा से छत्तीसगढ़ छीना, राजस्थान में भी बहुमत; मप्र में बराबरी का मुकाबला

नई दिल्ली.  पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव की मतगणना जारी है। रुझानों के मुताबिक, कांग्रेस ने भाजपा से छत्तीसगढ़ छीन लिया है। राजस्थान में भी हर 5 साल में सरकार बदलने का 25 साल से चल रहा ट्रेंड कायम है। कांग्रेस यहां बहुमत के साथ वापसी करती दिख रही है। मध्यप्रदेश में कांग्रेस और भाजपा दोनों ही 100 सीटों के पार हैं, लेकिन बहुमत अभी किसी को मिलता नहीं दिख रहा। उधर, तेलंगाना में दूसरी बार टीआरएस सत्ता हासिल कर रही है। मिजोरम के रुझान बता रहे हैं कि कांग्रेस के हाथ से पूर्वोत्तर का एकमात्र राज्य निकल गया है।

  • राजस्थान : रुझानों में कांग्रेस बहुमत के आंकड़े के पार, गहलोत और पायलट सीएम पद के दावेदार
  • मध्यप्रदेश : कांग्रेस-भाजपा के बीच कड़ी टक्कर; दोनों दल 100 सीटों के पार, लेकिन बहुमत से दूर
  • छत्तीसगढ़ : कांग्रेस दो तिहाई से ज्यादा सीटों पर आगे, भाजपा का वोट शेयर सबसे ज्यादा यहीं घटा
  • तेलंगाना : टीआरएस तीन चौथाई से ज्यादा सीटों पर आगे, केसीआर दूसरी बार सीएम बनेंगे
  • मिजोरम : एमएनएफ स्पष्ट बहुमत की ओर, पूर्वोत्तर के इसी एक राज्य में कांग्रेस की 10 साल सरकार रही

हम किसी को देश से बाहर निकालना नहीं चाहते- राहुल

राहुल गांधी ने बुधवार शाम प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने जीत के लिए जनता और कांग्रेस कार्यकर्ताओं को बधाई दी। राहुल ने कहा- नतीजों से यह साफ है कि देश नोटबंदी, जीएसटी, बेरोजगारी से खुश नहीं है। देश प्रधानमंत्री मोदी और भाजपा अध्यक्ष के काम से खुश नहीं है। भाजपा की अलग विचारधारा है। हम उसके खिलाफ लड़ेंगे और उन्हें हराएंगे। आज हराया है और 2019 में भी हराएंगे। लेकिन, हम किसी से भारत को भारत मुक्त करना, देश से निकालना नहीं चाहते हैं।

5 राज्यों के चुनाव में नतीजों और रुझानों के बाद राजस्थान, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस के कार्यकर्ता जश्न मना रहे हैं। कांग्रेस ने अपने ऑफिशियल ट्विटर हैंडल पर जीत पर एक वीडियो भी पोस्ट किया।

भाजपा 5 में से 2 राज्यों में दूसरे नंबर पर
रुझान में भाजपा राजस्थान और छत्तीसगढ़ में दूसरे नंबर पर है। यहां कांग्रेस को बहुमत मिलता नजर आ रहा है। मध्यप्रदेश में भाजपा फिलहाल नंबर एक पर है, लेकिन कांग्रेस से सीटों का अंतर काफी कम है। तेलंगाना और मिजोरम में भाजपा तीसरे नंबर पर है।

3 अहम राज्यों के रुझानों की हर घंटे की तस्वीर

मप्र राजस्थान छग
भाजपा कांग्रेस भाजपा कांग्रेस भाजपा कांग्रेस
9 बजे 27 51 43 65 24 30
10 बजे 109 110 80 100 24 60
11 बजे 103 115 86 99 25 57
12 बजे 108 112 78 100 18 66
1 बजे 104 115 75 99 17 67
2 बजे 110 110 67 103 21 64
3 बजे 112 106 70 102 15 66
4 बजे 115 105 72 102 16 65
5 बजे 104 117 72 99 17 65
6 बजे 106 115 72 99 18 63
7 बजे 112 109 72 99 15 67

भाजपा को सबसे ज्यादा नुकसान राजस्थान में, पिछली बार से 57% सीटें गंवाईं
रुझानों में भाजपा राजस्थान में सत्ता से दूर नजर आ रही है। 5 राज्यों के विधानसभा चुनाव में पार्टी को सबसे ज्यादा नुकसान भी यहीं हुआ है। यहां पिछली बार 163 सीटें पाने वाली भाजपा 70 सीटों पर सिमटती नजर आ रही है।

भाजपा को कहां, कितना नुकसान

प्रदेश 2013 में सीटें 2018 में सीटें नुकसान
मध्यप्रदेश 165 112 (रुझान) – 53
राजस्थान 163 70 (रुझान) – 93
छत्तीसगढ़ 49 15 (रुझान) -34

वोट शेयर : भाजपा को छत्तीसगढ़ में सबसे ज्यादा 10% का नुकसान

छत्तीसगढ़

पार्टी 2013 में वोट शेयर 2018 में वोट शेयर
भाजपा 42.3% 33%
कांग्रेस 41.6% 42.9%

राजस्थान

पार्टी 2013 में वोट शेयर 2018 में वोट शेयर
भाजपा 46% 38.6%
कांग्रेस 33.7% 39.2%

मध्यप्रदेश

पार्टी 2013 में वोट शेयर 2018 में वोट शेयर
भाजपा 45.7% 41.4%
कांग्रेस 36.38% 41.3%

राहुल-मोदी के लिए इन नतीजों के मायने
राहुल: 2017 में राहुल गांधी दिसंबर में ही कांग्रेस अध्यक्ष बने थे। राहुल के नेतृत्व में कांग्रेस की यह पहली बड़ी जीत है। कांग्रेस ने भाजपा को 2 राज्यों छत्तीसगढ़ और राजस्थान में रोक लिया है। उधर, मध्यप्रदेश में भी कांग्रेस को बढ़त मिलती दिख रही है।

मोदी-शाह: भाजपा की इस जोड़ी को झटका लगा है, क्योंकि मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद साढ़े चार साल में भाजपा की यह सबसे बड़ी हार मानी जा रही है। मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ जैसे दो बड़े गढ़ भाजपा के हाथ से निकल रहे हैं।
मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद भाजपा पंजाब में हारी थी। गोवा में भी सबसे बड़ी पार्टी कांग्रेस बनी, लेकिन भाजपा सरकार बनाने में कामयाब रही। कर्नाटक में भाजपा सबसे बड़ी पार्टी थी। लेकिन, यहां कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन ने सरकार बनाई। गुजरात में भाजपा की सीटें घटीं, लेकिन वह यहां सरकार बचाने में कामयाब रही।

तीन प्रमुख राज्यों में पिछली बार कौन जीता?

दल  मप्र छत्तीसगढ़ राजस्थान
भाजपा 165 49 163
कांग्रेस 58 39 21
बसपा 4 1 13
अन्य 3 1 13
कुल सीटें 230 90 200

तेलंगाना विधानसभा- 2014

कुल सीटें- 119

दल  सीटें वोट शेयर
टीआरएस  63  34.3%
कांग्रेस  21  25.2%
टीडीपी 15 14.7%
एआईएमआईएम  7 3.8%
भाजपा  5 7.1%
निर्दलीय 1  5%

मिजोरम: 2013 नतीजे

 कुल सीटें- 40

कांग्रेस 34
एमएनएफ 5
एमपीपी 1
भाजपा 0

मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद भाजपा का कैसा प्रदर्शन रहा?

  • 2014 में मोदी के पीएम बनने के बाद 22 राज्यों में चुनाव हुए। भाजपा ने 13 राज्यों में सरकार बनाई। वह अभी 18 राज्यों में सत्ता में है।
  • मई 2014 में जब मोदी ने प्रधानमंत्री पद की शपथ ली थी तब भाजपा या एनडीए की सिर्फ आठ राज्यों में और कांग्रेस की 14 राज्यों में सरकार थी।
  • मोदी के प्रधानमंत्री बनने के वक्त मध्यप्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़, गोवा और गुजरात में पहले से भाजपा सरकार थी। आंध्र में उसकी तेदेपा के साथ, पंजाब में अकाली दल और नगालैंड में एनपीएफ के साथ गठबंधन सरकार थी।
  • यहां भाजपा ने चुनाव जीतकर सरकार बनाई : महाराष्ट्र, हरियाणा, झारखंड, असम, उत्तरप्रदेश, उत्तराखंड, मणिपुर, हिमाचल, त्रिपुरा, नगालैंड, मेघालय। गोवा, गुजरात में सत्ता बनाए रखी।
  • यहां सत्ता हासिल की : अरुणाचल प्रदेश में समीकरण बदले तो भाजपा ने सरकार बनाई। वहीं, बिहार में भाजपा 2015 मंे हार गई थी। लेकिन डेढ़ साल बाद उसका जदयू से गठबंधन हुआ और सत्ता में आई।
  • जम्मू-कश्मीर में विधानसभा भंग : राज्य में भाजपा-पीडीपी की गठबंधन सरकार थी। पीडीपी ने भाजपा से समर्थन वापस लिया। हाल ही में यहा राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने विधानसभा भंग कर दी।
  • कांग्रेस अभी चार राज्यों- पंजाब, मिजोरम, पुड्डूचेरी और कर्नाटक में सत्ता में है। इनमें से कर्नाटक में उसका जेडीएस के साथ गठजोड़ है। दिल्ली समेत बाकी नौ राज्यों में दूसरे दलों की सरकार है।
  • जीडीपी और आबादी के लिहाज से अभी 68% आबादी और 59% इकोनॉमी वाले राज्यों में भाजपा की सरकार।

अभी किस दल की कहां सरकार?
भाजपा :
 महाराष्ट्र, हरियाणा, झारखंड, असम, उत्तरप्रदेश, उत्तराखंड, मणिपुर, गोवा, गुजरात, हिमाचल, त्रिपुरा, नगालैंड, अरुणाचल प्रदेश, मेघालय, बिहार, मध्यप्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़।
कांग्रेस : पंजाब, पुड्डूचेरी, मिजोरम, कर्नाटक।
अन्य राज्य : दिल्ली- आप, केरल- सीपीएम, ओडिशा- बीजद, तमिलनाडु- अन्नाद्रमुक, आंध्रप्रदेश- तेदपा, जम्मू-कश्मीर- राष्ट्रपति शासन, तेलंगाना- टीआरएस, बंगाल- तृणमूल, सिक्किम – एसडीएफ।

2019 में लोकसभा चुनाव के अलावा 6 राज्यों में होने हैं विधानसभा चुनाव

राज्य  कब तक कार्यकाल
सिक्किम  27 मई 2019
अरुणाचल प्रदेश 01 जून 2019
ओडिशा 11 जून 2019
आंध्रप्रदेश 18 जून 2019
हरियाणा 02 नवंबर 2019
महाराष्ट्र 09 नवंबर 2019

 

साभार: दैनिक भास्कर

WhatsApp chat