पांच सब सेंटर मिले बंद, तीन जगह चिकित्सक मिले गायब

मिशन निदेशक डाॅ समित शर्मा ने वीसी में दिए थे निर्देश: 50 चिकित्सा संस्थानों का निरीक्षण कर लिया व्यवस्थाओं का जायजा
जालोर, 22 दिसम्बर। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के विशिष्ट शासन सचिव एवं मिशन निदेशक डाॅ समित शर्मा के निर्देश पर शनिवार को विभागीय अधिकारियों ने करीब 50 चिकित्सा संस्थानों का निरीक्षण कर मुख्यमंत्री निःशुल्क दवा योजनाओं के तहत दवाइयांे की उपलब्धता, मुख्यमंत्री निःशुल्क जांच योजना के तहत निःशुल्क जांच की सुविधा, चिकित्सा संस्थान में साफ सफाई, कार्मिकों की उपस्थिति सहित तमाम व्यवस्थाओं का जायजा लिया।
मिशन निदेशक डाॅ समित शर्म ने अधिकारियों को कार्यालयों एवं स्वास्थ्य केन्द्रों का शनिवार को सघन निरीक्षण कर वर्तमान में उपलब्घ दवाइयों एवं जांच सुविधाओं की स्थिति की रिपोर्ट तैयार कर भेजने के निर्देश दिए थे। डाॅ. शर्मा ने उप स्वास्थ्य केंद्र, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों एवं जिला अस्पतालों सहित मेडिकल कॉलेजों से संबद्ध राजकीय अस्पतालों में निःशुल्क योजना की दवाइयां एवं निशुल्क जांच सेवाओं की समुचित व्यवस्थाएं सभी मरीजों को उपलब्ध करवाने के निर्देश देते हुए उन्हांेने प्रदेश के सभी चिकित्सा व स्वास्थ्य केन्द्रों पर निर्धारित सभी उपचार व परामर्श सेवाएं पूरी गुणवत्ता के साथ उपलब्ध कराने पर जोर दिया था। इसके तहत शनिवार को जिला व ब्लाॅक स्तरीय अधिकारियों ने शनिवार को करीब 50 चिकित्सा संस्थानों का निरीक्षण किया। इस दौरान पांच सब सेंटर पर एएनएम नदारद मिली। वहीं तीन प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर चिकित्सक नदारद मिले।
पूनासा और कोडका में चिकित्सक मिले अनुपस्थित
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ बीएल बिश्नोई ने शनिवार को पीएचसी रेवत, मोदरा, धानसा, दासपा, पूनासा, कोडका, अरणाय, बाकरागांव का निरीक्षण किया। इस दौरान पूनासा व कोडका प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में चिकित्सा अधिकारी प्रभारी बिना सूचना के अनुपस्थित मिले। इसके अलावा अन्य चिकित्सा संस्थानों पर कार्मिकों को पोशाक पहनकर आने तथा साफ सफाई का विशेष ध्यान रखने के निर्देश दिए। उन्होंने मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना व निशुल्क जांच योजना की स्थिति का जायजा लिया और आमजन को बेहतर सुविधाएं प्रदान करने के निर्देश दिए।
काम्बा व गुडा राम सब सेंटर मिले बंद
उप मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ एसके चैहान ने जालोर व आहोर ब्लाॅक के चिकित्सा संस्थानों का निरीक्षण किया। इस दौरान काम्बा व गुडा रामा उप स्वास्थ्य केंद्र बंद मिले। वहीं अजीतपुरा, जैतपुरा, निम्बला व पीएचसी भाद्राजून में व्यवस्थाओं को बेहतर करने के निर्देश दिए। वहीं जिला औषधि भण्डार के प्रभारी डाॅ केके वर्मा, फार्मास्टि लखन मीणा, डीईओ शांतिलाल ने सीएचसी मांडवला, सायला, पीएचसी जीवाणा, सांगाणा, सिराणा, उम्मेदाबाद का निरीक्षण किया। सिराणा में डीडीसी अव्यस्थित मिला।
खरल, डांगरा व नीम्बलाना सब सेंटर मिले बंद
इसी प्रकार सायला बीसीएमओ डाॅ राजूमल ने उप स्वास्थ्य केंद्र खरल, आदर्श पीएचसी उम्मेदाबाद, उप स्वास्थ्य केंद्र एलाना, नीम्बाला, सीएचसी मांडवला का निरीक्षण किया। खरल, डांगरा व नीम्बलाना में उप स्वास्थ्य केंद्र बंद मिला और एएनएम बिना अवकाश स्वीकृत करवाए अनुपस्थित मिली। सीएचसी मांडवला में भैरूसिंह 1 अक्टूबर से लगातार अनुपस्थित पाए गए।
रानीवाडा बीसीएमओ डाॅ बाबूलाल पुरोहित ने पीएचसी मालवाडा, कागमाला, बडगांव और उप स्वास्थ्य केंद्र आजोदर, रामपुरा का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। कार्मिक पोशाक में नहीं थे, उनको पोशाक पहनकर संस्थान में आने और संस्थानों पर दवाइयां की उपलब्धता सुनिश्चित रखने के निर्देश दिए। जालोर बीसीएमओ डाॅ रतनलाल मेघवाल ने उप स्वास्थ्य केंद्र रणछोड नगर, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र रेवत, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सरत, उप स्वास्थ्य केंद्र चुरा तथा सांथु प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का निरीक्षण किया। उन्होंने उक्त चिकित्सा संस्थानों में दवाइयां की उपलब्धता, निशुल्क जांच की सुविधा व स्थिति, साफ सफाई, संस्थानों पर दवाइयां का रखरखाव, कार्मिक की उपस्थिति आदि का जायजा लिया। बीसीएमओ जसवन्तपुरा डाॅ दिलीपसिंह ने सीएचसी जसवन्तपुरा, पीएचसी रामसिन, मानडोली नगर, थूर, उप स्वास्थ्य केंद्र मुरतडा सिल्ली, भरूडी का निरीक्षण किया। विदाआउट डेªस संस्थान में आए कार्मिकों को पोशाक पहनकर आने, जो दवाइयां नहीं है उनको सोमवार तक जिला औषधि भण्डार से लेकर आने के निर्देश दिए। चितलवाना बीसीएमओ डाॅ पीआर बोस ने उप स्वास्थ्य केंद्र काछैला, जानवी, केसूरी, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सुथडी आदि का निरीक्षण किया। सांचोर बीसीएमओ डाॅ बीआर जानी ने सांकड पीएचसी सहित आठ संस्थानों का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। डीपीएम चरणसिंह ने पीएचसी गोदन पर चिकित्सक बिना अनुमति के अनुपस्थित मिले। वहीं कार्मिक पोशाक में नहीं मिले। अनटाइड फण्ड का उपयोग करने के निर्देश दिए। उन्होंने उप स्वास्थ्य केंद्र कानीवाडा व उण का भी निरीक्षण किया।
फोटो कैप्शन
जालोर। चिकित्सा संस्थान का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लेते सीएमएचओ डाॅ बीएल बिश्नोई व अन्य अधिकारी।
By-kailashsingh

WhatsApp chat