भाजपा के आरोपों को खारिज किया

मध्यप्रदेश के कृषि मंत्री सचिन यादव ने गुरुवार को इंदौर की रेसीडेंसी कोठी पर पत्रकारों से चर्चा की| इस अवसर पर उन्होंने कांग्रेस के अहम चुनावी वादे से जुड़ी किसान कर्ज माफी योजना को लेकर भाजपा के आरोपों को खारिज किया| उन्होंने सफाई में कहा कि इस महत्वाकांक्षी कार्यक्रम का विस्तृत खाका जल्द ही स्पष्ट किया जाएगा। भोपाल में पांच जनवरी को होने वाली मंत्रिमंडल की बैठक के बाद किसान कर्ज माफी योजना का पूरा स्वरूप स्पष्ट हो जाएगा।

गौरतलब है कि भाजपा नेताओं का आरोप है कि किसानों का कर्ज माफ करना कांग्रेस का चुनावी छलावा है| उन्होंने आरोप लगाया कि कमलनाथ सरकार सूबे के सभी अन्नदाताओं को ऋण माफी योजना का लाभ नहीं देगी।

मंत्री ने दिलाया भरोसा 

कृषि मंत्री ने आरोपों का जवाब देते हुए कहा, “बड़े उद्योगपतियों के कर्ज माफ किए जाने पर भाजपा के माथे पर शिकन तक नहींआती, लेकिन हम जब किसानों का कर्ज माफ करने का वादा निभाने जा रहे हैं तो भाजपा के पेट में दर्द हो रहा है और वह गंदी राजनीति कर रही है।” उन्होंने कहा कि योजना के दायरे में आने वाले सभी किसानों का कर्ज माफ किया जायेगा। यादव ने आरोप लगाया कि प्रदेश पर लगातार 15 वर्ष शासन करने वाली भाजपा सरकार की गलत नीतियों के कारण ही किसान कर्ज के बोझ तले दबे थे और उन्हें आत्महत्या के लिए मजबूर होना पड़ रहा था।

इस अवसर पर पूर्व कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव भी उपस्थित थे| उन्होंने कहा कि राम मंदिर मुद्दे पर भाजपा जनता को मूर्ख बना रही है। जनता सवाल कर रही है, लेकिन भाजपा नेता चुप्पी साधे बैठे हैं। उन्होंने दावा किया कि लोकसभा चुनाव 2019 में कांग्रेस मप्र में 20 सीटों पर विजय प्राप्त करेगी। उन्होंने कहा कि शिवराज सिंह चौहान मप्र विधानसभा चुनाव में हुई अपनी हार को पचा नहीं पा रहे हैं। उन्हें अब भी यही लग रहा है कि मध्यप्रदेश में भाजपा की सरकार है। आलोचना करना भाजपा की पुरानी आदत है।

 

WhatsApp chat