आईटीआई में विधिक साक्षरता शिविर सम्पन्न

नरसिंहपुर। राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशानुसार एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण अध्यक्ष आर के नागपुरे के मार्गदर्शन में औद्योगिक प्रशिक्षण संस्था नरसिंहपुर में बच्चों को कानूनी जानकारी देने के उद्देश्य से विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया शिविर में अपर सत्र न्यायाधीश सोम पांडे द्वारा छात्र-छात्राओं को कानूनी जानकारी देते हुए बताया कि भारत वर्ष में विधि विषयों पर अधिनियम और नियम और विनियमों की भरमार है तथा कानून बनाने की यह प्रक्रिया अनवृत्त जारी है। उन्होंने कहा कि भारतीय संविधान में यह अपेक्षा की गई है कि प्रत्येक नागरिक को सामाजिक आर्थिक और राजनैतिक न्याय प्राप्त हो। इसी उद्देश्य से आम जनता के हित को सुरक्षित रखने के लिए विधिक सेवा प्राधिकरण अधिनियम 1987 का कानून बनाया गया है और इस अधिनियम के द्वारा असहाय और निर्बल वर्गाे को कानूनी सहायता प्रदान करने का प्रयास किया गया है। प्रथम अपर सत्र न्यायाधीश शिवकांत पांडे द्वारा छात्र छात्राओं को मोटर व्हीकल एक्ट की जानकारी देते हुए बताया कि छात्र/छात्राओं को मौलिक अधिकार एवं कर्तव्य, न्याय प्रणाली के बारे में तथा महिलाओं से संबंधित अधिकार के बारे में विस्तार से अवगत कराया गया। सूचना के अधिकार के अंतर्गत जानकारी एवं मोटर व्हीकल एक्ट के बारे में भी बताया गया। न्यायाधीश द्वारा उद्बोधन में कहा गया कि विद्यार्थी खूब मन लगाकर पढ़ाई करें एवं अपने जीवन को उत्कृष्टता की ओर ले जाए। शिविर में निःशुल्क विधिक सेवा योजना के संबंध में विस्तार से जानकारी दी गई है। उपरोक्त शिविर में न्यायाधीश कमलेश साहू संस्था के प्राचार्य एस के पाराशर समस्त छात्र छात्राएं विधिक सेवा प्राधिकरण से शैलेंद्र श्रीवास्तव एवं मंच का संचालन पैरा लीगल वालंटियर पीयूष दीक्षित के द्वारा किया गया। संवाददाता आकाश कौरव

WhatsApp chat