सुगर मिलों की सुगर रिकवरी की जांच के लिए दल गठित कलेक्टर को देंगे रिपोर्ट

नरसिंहपुर।  कलेक्टर दीपक सक्सेना ने जिले में संचालित 8 सुगर मिलों के गन्ना की सुगर रिकवरी की जांच के लिए 8 दल गठित किये हैं। ये जांच दल संबंधित सुगर मिल से गन्ना के रेंडम सेम्पल किसानों के समक्ष पंचनामा तैयार कर प्राप्त करेंगे। गन्ना सेम्पल में सुगर एवं रिकवरी के रेट प्रतिशत की जांच गन्ना अनुसंधान केन्द्र पवारखेड़ा जिला होशंगाबाद स्थित लेब में करायेंगे और इसकी रिपोर्ट कलेक्टर न्यायालय में सीलबंद लिफाफे में यथाशीघ्र अनिवार्यतत्न उपलब्ध कराना सुनिश्चित करेंगे।
इस सिलसिले में सुगर मिलों के गन्ने के नमूने की जांच के लिए 8 जांच दल गठित किये गये हैं। महाकौशल सुगर मिल बचई के जांच दल में नायब तहसीलदार मर्यादा बागड़े, कृषि वैज्ञानिक एसआर शर्मा व राजस्व निरीक्षक राजेश ठाकुर को, करेली सुगर मिल के जांच दल में नायब तहसीलदार रैना तामिया, कृषि वैज्ञानिक आशुतोष शर्मा व राजस्व निरीक्षक जीएस राय को, वंशिका सुगर मिल बिलगुवां के जांच दल में नायब तहसीलदार अमन मिश्रा, सहायक संचालक कृषि अशोक श्रीवास्तव व राजस्व निरीक्षक पंकज मेश्राम को, शक्ति सुगर मिल कौंड़िया के जांच दल में नायब तहसीलदार अरविंद यादव, कृषि वैज्ञानिक यतिराज खरे व राजस्व निरीक्षक रामलाल पटैल को, नर्मदा सुगर मिल सालीचौका के जांच दल में तहसीलदार रश्मि चतुर्वेदी, अनुविभागीय कृषि अधिकारी केएस रघुवंशी व राजस्व निरीक्षक सुरेश उपाध्याय को, आकृति सुगर मिल तूमड़ा के जांच दल में नायब तहसीलदार नितिन राय, सहायक संचालक कृषि बीएल परते व राजस्व निरीक्षक रूप सिंह पटैल को, राजराजेश्वरी सुगर मिल मोहपानी के जांच दल में नायब तहसीलदार कैलाश कुर्मी, अनुविभागीय कृषि अधिकारी एनपी मरावी व राजस्व निरीक्षक किशोर उईके को और रेवा कृपा सुगर मिल शहपुरा- भिटौनी के जांच दल में तहसीलदार राजेश मरावी, सहायक संचालक कृषि आशुतोष दुबे व राजस्व निरीक्षक आलोक सोनी को रखा गया है।
संवाददाता आकाश कौरव

(राष्ट्रीय संभव सन्देश के व्हाट्सएप ग्रुप में ऐड होने के लिए Click यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, और यूट्यूब पर फ़ाॅलो भी कर सकते हैं.)

WhatsApp chat