आदिवासियों की जमीनों पर बने भवन, होटले व काम्प्लेक्स वापिस लिए जाएंगे

 

 

बिटीपी प्रत्याशी को अबकी बार लोकसभा में भेजने का आह्वान

रिंकु शर्मा हत्याकांड के दोषियों को मिले फांसी

डोली गांव में हुआ विधायक रामप्रसाद का ढोल-नगाड़ों से स्वागत
ग्राम पंचायतों के नही खुलने व सरपंच-सचिव की गैर मौजूदगी रहने की दी जानकारी

सागवाड़ा। आदिवासियों की जमीनो पर बने काम्प्लेक्स, होटले की जमीनें वापस लेकर आदिवासियों को दिलाई जाएंगी, आगामी लोकसभा चुनाव में बिटीपी प्रत्याशी को भारी मतों से विजयी बनावे यह उदगार सागवाड़ा विधायक रामप्रसाद डेन्डोर ने सागवाड़ा के समिपवर्ती गांव डोली, रोतवाड़ा, कराड़ा में आयोजित कार्यक्रम में व्यक्त किए।
कार्यक्रम के प्रारंभ में विधायक रामप्रसाद का ढोल-नगाड़ों व साफा बांध कर स्वागत किया गया।
विधायक डेन्डोर ने शराब के सेवन से दूर रहने की अपील की तथा बहुचर्चित रिंकु शर्मा हत्याकांड में दोषियों को फांसी की सजा देने को मांग की।
कार्यक्रम के प्रारम्भ में प्रदेश सचिव पवन सरपोटा ने अपने वक्तव्य में महिला शक्ति को सम्बोधित करते हुए मनुवाद से दूर रहते अपने समाज को आर्थिक रूप से बचाने का आह्वान किया।
समाज सेवी पूंजी लाल डेण्डोर ने विधानसभा चुनाव में जिस तरह  से संगठन बताया उसी तरह से एक बार फिर उसी जोश और जूनून के साथ वापस मैदान में आने की बात कही।
जिला उपाध्यक्ष देवीलाल अहारी ने गांव और अतिथियों को सम्बोधित करते हुए सबको चुनाव के बाद वापस पहली बार मिलने पर बधाई दी।
पाडवा गांव के कचरू दादा जय भील प्रदेश के उद्द्बोधन के साथ बात प्रारम्भ करी और समाज सुधार की बात करते हुए संगठित  रहने का सन्देश दिया।
जिलाध्यक्ष चुन्नीलाल डामोर ने आदिवासी संस्कृति को बचाने के लिए हरसंभव प्रयासरत रहने की बात कहते हुए
समाज के इतिहास को जानने पर जोर दिया।
जिलाध्यक्ष डामोर ने अभिवादन जय जोहार शब्द का अर्थ  बताया,
वही पिछली सरकारों को खूब कोसते हुए कहा कि आदिवासियों को न तो ऊपर उठने दिया और न ही मरने दिया बस वोटर बना रखा।
कार्यक्रम के अंत में ग्रामीणों ने गांव की समस्याओ को ज्ञापन के माध्यम से विधायक डेन्डोर को अपनी बात बताई जिसमे ग्राम पंचायतों के समय पर नही खुलने सरपंच, सचिव की गैर-मौजूदगी के बारे में भी अवगत कराया।
इस दौरान कांतिलाल मानत, राजेंद्र कटारा, राजेंद्र दायमा, कांति भाई वमासा, हरीश चंद्र गोगरा, देवीलाल कटारा, केशु  डामोर सहित ग्रामीण उपस्थित थे।
संचालन जीतेन्द्र रोत ने किया और आभार मनोज रोत ने व्यक्त किया।
By-kailashsingh

WhatsApp chat