डीएम के आदेश पर स्वास्थ्य विभाग ने ट्रांस यमुना में की छापेमारी, एक अस्पताल सील, तीन को नोटिस जारी

आगरा। चिकित्सा मानकों को ताक पर रखकर मरीजों की जान से खिलवाड़ कर रहे अस्पतालों में बुधवार को डीएम के आदेश पर स्वास्थ्य विभाग ने ट्रांस यमुना कॉलोनी क्षेत्र में छापेमारी की। छापेमारी के दौरान अस्पताल बेसमेंट में संचालित मिले। बेसमेंट में वार्ड बने हुए थे, जिसके चलते चार अस्पतालों पर कार्रवाई की गई है। एक अस्पताल को सील कर दिया गया, जबकि तीन को नोटिस जारी किए गए हैं। .
स्वास्थ्य विभाग की टीम ने ट्रांसयमुना स्थित चेतन्य अस्पताल का निरीक्षण किया। यहां दो मरीज भर्ती पाए गये। इनमें विशाल एत्मादपुर और राकेश सिरसागंज से थे। राकेश को ब्लड चढ़ाया जा रहा था, लेकिन कोई डॉक्टर नहीं था। वहीं बायोवेस्ट निस्तारण भी मानकों के अनुरूप नहीं पाया गया। इस अस्पताल का पंजीकरण नहीं है। न ही मानकों के अनुरूप अन्य सुविधाएं पायी गईं। एसीएमओ ने अस्पताल को सील करने की संस्तुति की है।.
शुभम अस्पताल में बायो मेडिकल मानकों के अनुरूप नहीं पाया गया।.
ट्रांस यमुना स्थित शुभम हॉस्पिटल के बेसमेंट में मरीज भर्ती पाए गये। बायो मेडिकल मानकों के अनुरूप नहीं पाया गया। सुधार करने के लिए नोटिस दिया है। डॉ. पीके शर्मा ने बताया कि चार अस्पतालों की जांच की गई। तीन अस्पतालों को नोटिस दिए हैं। बायो मेडिकल वेस्ट का निस्तारण नहीं मिला। साफ सफाई उचित नहीं थी। डॉ. दिनेश गुप्ता व डॉ.अर्चना गुप्ता संचालक हैं। नोटिस दिया गया है। फिर टीम संजीवनी हॉस्पिटल पहुंची संचालक डॉ. भूपेंद्र नहीं मिले। अस्पताल में कोई मरीज भी भर्ती नहीं था। स्टाफ ने बताया कि डॉक्टर बाहर गए हुए हैं। फिर टीम समय हॉस्पिटल पहुंची। डॉ. पारुल भाटिया व डॉ. प्रदीप सिंह संचालक हैं। यहां बेसमेंट में वार्ड बना हुआ था ओटी में गंदगी मिली, नोटिस दिया गया है।

WhatsApp chat