19 से 20 मई के बीच 19 घंटों में पाकिस्तान में 88% लोगों ने सर्च किया ‘नरेंद्र मोदी’ कीवर्ड

नई दिल्लीपड़ोसी देश पाकिस्तान में इंटरनेट पर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खूब सर्च किया जा रहा है. गूगल सर्च के आंकड़ों के मुताबिक 19 मई 2019 की शाम 4.26 मिनट से लेकर 20 मई को दोपहर 11.22 बजे तक ‘नरेंद्र मोदी’ कीवर्ड को सबसे ज्यादा सर्च किया गया है. पड़ोसी देश में 88% लोगों ने ‘नरेंद्र मोदी’ को सर्च किया. इस मामले में उन्होंने भारतीयों को भी पीछे छोड़ दिया है.

 

पाकिस्तान में मोदी को लेकर इतनी उत्सुकता क्यों है?

बालाकोट

एग्जिट पोल के नतीजों के बाद से नरेंद्र मोदी पाकिस्तान के लोगों के दिलो दिमाग पर छाए हुए हैं. इसकी सबसे बड़ी वजह बालाकोट के बाद पाकिस्तान की किरकिरी है. वहां की सेना ये कबूल करने में नाकाम है कि भारत उसके घर में घुसकर आतंकवादियों को मार गया फिर भी दुनिया पीएम मोदी के साथ खड़ी हो गई.

बलूचिस्तान

पाकिस्तान की चिंता बलूचिस्तान को लेकर भी है. जहां उसकी सेना के अत्याचार के खिलाफ स्थानीय लोग हथियार उठा चुके हैं. पाकिस्तान की खुफिया एजेंसियों को डर है कि मोदी के आने से उसके खिलाफ बगावत तेज हो सकती है.

अर्थव्यवस्था

अपनी गलती को भारत पर डालना पाकिस्तान की पुरानी आदत रही है. जिसे प्रधानमंत्री मोदी की वापसी का संकेत दे रहे एग्जिट पोल्स ने और भी गहरा कर दिया है. अब पाकिस्तान को डर ये है कि उसकी अर्थव्यवस्था चौपट है. लेकिन भारत तेजी से दुनिया की महाशक्ति बनता जा रहा है. ऐसे में भविष्य में भी अगर मोदी की तरफ से बालाकोट जैसी कार्रवाई हुई तो चीन भी उसका साथ नहीं देगा.

भारत की कार्रवाई

प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में ही भारत ने पहली बार सर्जिकल स्ट्राइक की. पाकिस्तान में घुसकर एयरस्ट्राइक करने का काम भी मोदी ने ही किया. इसीलिए पाकिस्तान का डरना स्वाभाविक है कि अगर मोदी लौटे और उसके आतंकियों ने कोई ऊंच नीच की तो भारत की कार्रवाई को पूरी दुनिया एक सुर में सही ठहराएगी.

WhatsApp chat