Poetry Update: आज पर्वों के मुख यूँ बदल क्यों गए?

आज पर्वों के मुख यूँ बदल क्यों गए? एक ऊर्जा  असीमित  किरण  आस की त्याग   एकाकीपन   मन   सलोने   भए हाय

Read more

Poetry Update: मैं हिन्दी हूँ, मैं हिन्दुस्तान हूँ..!

एक हिन्दुस्तानी ——————— मैं हिन्दी हूँ हिन्दुस्तान हूँ मैं सबकी आवाज़ हूँ उत्तर दक्षिण पूरब पश्चिम की सरहद नहीं मैं

Read more

Poetry : विचलित मन – दम तोड रही मानवता

दम तोड़ रही मानवता समाज कितनी विचलित हो रही। सामाजिक कुप्रथाओं का चलन कितनी भयावह और विकृत हो रही। कहीं

Read more

Poetry Update: बिन चैटिंग कैसे जिएं

जबसे बदला है तुमने रुख वाट्सएप्प, ट्ववटर और फेसबुक से। लगता नही कही मन मेरा, विरक्ति सी हो गई है

Read more

सैन्य वेदना – अपमानित शोणित सैनिक कब …

” नेता हो या आम जनों के भाषण में होता है, अपमानित शोणित सैनिक कब अपना दुःख रोता है !

Read more

Religion Update: महाभारत में इन लोगो को मन गया हे अमर

रिलिजन डेस्क. महाभारत के अनुसार, रुद्र के एक गण ने कृपाचार्य के रूप में अवतार लिया। ये कौरव और पांडवों के

Read more

Literature : कविताओं के जरिए बेहतर ढंग से व्यक्त हो सकता है सुख-दुख

साहित्य अकादमी संस्कृति परिषद् मप्र शासन संस्कृति विभाग की ओर से मंगलवार को स्वराज भवन में निरंतर रचनापाठ का आयोजन

Read more

Poetry: मुझे अफ़सोस न हो के मैं बेटा नहीं एक बेटी हूँ…

समाज की छोटी मानसिकता की शिकार हूँ शालीन हूँ परिपूर्ण हूँ फिर भी एक विकार हूँ मेरी क्षमताओं पे सवाल

Read more

WhatsApp chat