नीति आयोग का पुनर्गठन, राजीव कुमार उपाध्यक्ष बने रहेंगे; राजनाथ अब 6 कैबिनेट समितियों में शामिल

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को नीति आयोग का पुनर्गठन किया। राजीव कुमार आयोग के उपाध्यक्ष बने रहेंगे। इसके अलावा वी के सारस्वत, वी के पॉल और रमेश चंद को फिर से सदस्य चुना गया। गृह मंत्री अमित शाह पदेन सदस्य बनाए गए हैं। इसके अलावा रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को कैबिनेट की चार और अहम समितियों में स्थान मिला है। बुधवार को सरकार ने आठ समितियों का पुनर्गठन किया था, जिनमें से उन्हें सिर्फ आर्थिक और सुरक्षा समिति में ही जगह दी गई थी। अब वे 6 समितियों के सदस्य होंगे।

सूत्रों के मुताबिक, नीति आयोग में शाह के अलावा राजनाथ सिंह, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर पदेन सदस्य के तौर पर शामिल रहेंगे। नीति आयोग का 1 जनवरी 2015 को गठन किया गया था। पिछली बार राजनाथ सिंह के अलावा अरुण जेटली, पीयूष गोयल और राधामोहन सिंह को पदेन सदस्य के तौर पर शामिल किया गया था।

गडकरी-गोयल विशेष आमंत्रित सदस्य में शामिल

इसके अलावा सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी, रेलवे मंत्री पीयूष गोयल, सामाजिक न्याय मंत्री थावरचंद्र गहलोत और राव इंद्रजीत सिंह समिति के विशेष आमंत्रित सदस्य बनाए गए हैं। पिछली बार गडकरी, गहलोत के अलावा प्रकाश जावड़ेकर भी विशेष आमंत्रित सदस्य थे।

राजनाथ सिंह अब 6 समितियों में शामिल

सूत्रों के मुताबिक, अब राजनाथ सिंह संसदीय मामलों की समिति की अगुआई करेंगे। इसमें प्रधानमंत्री शामिल नहीं हैं, जबकि शाह इससे सदस्य हैं। राजनाथ को आर्थिक, सुरक्षा, राजनीतिक और संसदीय मामले, निवेश और वृद्धि, रोजगार और कौशल विकास समिति में स्थान दिया गया है। पुनर्गठन में अमित शाह सभी आठ समितियों में शामिल करने को लेकर सवाल खड़े हो रहे थे।

(राष्ट्रीय संभव सन्देश के व्हाट्सएप ग्रुप में ऐड होने के लिए Click यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, और यूट्यूब पर फ़ाॅलो भी कर सकते हैं.)

WhatsApp chat