इंदौर मेट्रो रेल को मिली केन्द्र सरकार की मंजूरी, 4 साल में पूरी होगी परियोजना

विधानसभा चुनाव से पहले केन्द्र सरकार ने मप्र के लिए पिटारा खोल दिया है। बुधवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में हुई बैठक में इंदौर और भोपाल में मेट्रो ट्रेन प्रोजेक्ट को मंजूरी दे दी गई। इंदौर में 31.55 किलोमीटर लंबे रूट पर मेट्रो ट्रेन चलाई जाएगी जिस पर 7500.80 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे।

मोदी कैबिनेट में मंजूर हुए प्रस्ताव के मुताबिक चार साल में इंदौर मेट्रो रेल परियोजना को पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। इंदौर में 31.55 किलोमीटर लंबी इस मेट्रो रेल का रूट पूरे शहर को कवर करेगा।
प्रस्ताव के अनुसार मेट्रो प्रोजेक्ट के लिए 20 फीसदी राशि केंद्र द्वारा प्रदान की जाएगी। वहीं 20 फीसदी राशि राज्य सरकार खर्च करेगी। जबकि शेष 60 फीसदी राशि ऋण के माध्यम से जुटाई जाएगी। भोपाल में 27.87 किलोमीटर लंबे मेट्रो रेल के निर्माण पर 6 हजार 941 करोड़ रुपए खर्च होंगे।

कमलनाथ बोले-सिर्फ चुनावी जुमला है मेट्रो : प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने भोपाल-इंदौर में मेट्रो को सिर्फ चुनावी जुमला बताया है। नाथ ने ट्वीट कर कहा है कि हर चुनाव के पहले शिवराज इस तरह के सपने दिखाते आए हैं। इधर, नगरीय विकास एवं आवास मंत्री माया सिंह ने कहा कि मेट्रो के संचालन से इन शहरों में शहरी यातायात में नया आयाम जुड़ने के साथ विकास का नया रास्ता खुलेगा।

चुनाव से पहले रिझाने का प्रयास : केन्द्र सरकार की मंजूरी के बाद मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आगामी विधानसभा चुनाव में इसे पूरी तरह भुनाने का प्रयास करेंगे। चुनाव से पहले इंदौर व भोपाल में परियोजना का भूमिपूजन कर दोनों शहरों के मतदाताओं को रिझाने का प्रयास किए जाने की संभावना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat