बंगाल की खाड़ी के ऊपर बना कम दबाव का क्षेत्र, तमिलनाडु में भारी वर्षा की चेतावनी

चेन्नई। मौसम विभाग की तमिलनाडु में भारी बारिश की चेतावनी के मद्देनजर चेन्नई सहित सात जिलों के स्कूल-कालेजों को बंद कर दिया गया है। दक्षिण पश्चिम बंगाल की खाड़ी के ऊपर बन रहे कम दबाव वाले क्षेत्र के चलते बुधवार को चेन्नई और उसके पड़ोसी जिलों समेत तमिलनाडु के कई हिस्सों में बारिश हुई। चेन्नई के जिला कलेक्टर ने स्कूलों और कॉलेजों में गुरूवार छुट्टी की घोषणा कर दी है। मद्रास यूनिवर्सिटी ने गुरूवार को होने वाली परीक्षा को भी स्थगित कर दिया है। मद्रास यूनिवर्सिटी ने बयान जारी कर कहा कि मद्रास और आसपास के जिलों में भारी बारिश की वजह से 22 नवंबर को होने वाली परीक्षाएं रद्द कर दी गई हैं। परीक्षा की अगली तिथि जल्द दोबारा जारी की जाएगी। यूनिवर्सिटी ने यह भी कहा यूनिवर्सिटी विभाग द्वारा 22 नवंबर को आयोजित होने वाली परीक्षा भी रद्द कर दी गई हैं।

दरअसल, दक्षिण पश्चिम बंगाल की खाड़ी के ऊपर बन रहे कम दबाव वाले क्षेत्र के चलते बुधवार को चेन्नई और उसके पड़ोसी जिलों समेत तमिलनाडु के कई हिस्सों में बारिश हुई। इन परिस्थितियों के प्रभाव में मौसम विभाग ने अगले दो दिनों में भी बारिश होने का पूर्वानुमान व्यक्त किया है। एक बुलेटिन में कहा गया कि दक्षिण पश्चिम बंगाल की खाड़ी और सटे हुए तटीय तमिलनाडु के ऊपर गहरे दबाव वाला क्षेत्र बन रहा है। इसमें कहा गया कि इस कम दबाव के चलते अगले दो दिनों में तमिलनाडु और पुडुचेरी में बड़े पैमाने पर वर्षा होगी तथा कुछ स्थानों पर तेज से बहुत तेज बारिश हो सकती है। राज्य के पूर्वी और मध्य हिस्सों में पहले से ही बारिश शुरू हो चुकी है।

मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि चेन्नई, कांचीपुरम, तिरुवल्लूर और विल्लुपुरम उन जिलों में शामिल हैं जहां वर्षा हुई। मौसम विभाग ने बताया कि मंगलवार सुबह साढ़े आठ बजे से बुधवार सुबह साढ़े आठ बजे तक कुड्डलोर, अरियालूर में एक सेंटीमीटर, नगापट्टिनम जिले के तारंगमबाड़ी में सात सेंटीमीटर और चेन्नई (नुंगमबक्कम) में दो सेंटीमीटर बारिश दर्ज की गई। तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी तूफान ‘गज’ से हुई तबाही की प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को जानकारी देंगे और स्थिति को काबू में करने के लिए व्यापक केन्द्रीय सहायता पैकेज की मांग करेंगे। उल्लेखनीय है कि गाजा साइक्लोन से तमिलनाडु में 46 लोगों की मौत हुई है।

(राष्ट्रीय संभव सन्देश के व्हाट्सएप ग्रुप में ऐड होने के लिए Click यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, और यूट्यूब पर फ़ाॅलो भी कर सकते हैं.)

WhatsApp chat