मणिशंकर अय्यर ने पूछा- दशरथ के महल में 10 हजार कमरे थे, भगवान राम कौनसे में पैदा हुए?

नई दिल्ली: कांग्रेस (Congress) नेतामणिशंकर अय्यर (Mani Shankar Aiyar)ने एक बार फिर विवादास्पद बयान दिया है. इस बार उन्होंने अयोध्या में राम मंदिर (Ram Mandir) को लेकर बयान दिया है, जिससे एक नई बहस शुरू हो सकती है. उन्होंने पूछा है कि दशरथ के महल में 10 हजार कमरे थे, भगवान राम (Lord Ram) कौनसे कमरे में पैदा हुए थे? क्या यह किसी को पता है. वरिष्ठ कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने यह बात सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया के दिल्ली में आयोजित एक समारोह ‘एक शाम बाबरी मस्जिद के नाम’ में कही.

अय्यर ने कहा, ‘हम कहते हैं अगर आप चाहते हैं तो अयोध्या में राम मंदिर जरूर बनाइए. लेकिन आप यह कैसे कह सकते हैं कि मंदिर वहीं बनाएंगे. मंदिर वहीं बनाएंगे का क्या मतलब है. दशरथ एक बहुत बड़े महाराजा थे. कहा जाता है कि उनके महल में 10 हजार कमरे थे. कौन जानता है कि कौनसा कमरा कहां था? इसलिए यह कहना कि हम सोचते हैं कि भगवान राम यहीं पैदा हुए थे, इसलिए यहीं मंदिर बनाना है. क्योंकि यहां एक मस्जिद है, पहले इसे हम तोड़ेंगे और इसकी जगह हम मंदिर बनाएंगे. क्या एक हिन्दुस्तानी के लिए अल्लाह में भरोसा रखना गलत चीज है.’

चिराग पासवान बोले, राम मंदिर मुद्दे को बेवजह तूल न दे NDA, चुनाव में हो सकता है नुकसान

मणिशंकर अय्यर अपने बयानों को लेकर कई बार चर्चा में रहे हैं. अय्यर को दिसंबर 2017 में गुजरात चुनाव के समय पीएम मोदी के बारे में ‘नीच’ शब्द का इस्तेमाल करने पर कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया गया था. उस समय पहले चरण का चुनाव चल रहा था और पीएम मोदी सहित पूरी बीजेपी ने इसको मुद्दा बना लिया था. जिससे कांग्रेस बैकफुट पर आ गई थी. मणिशंकर अय्यर पहले भी अपने बयानों की वजह से पार्टी को मुश्किल में डाल चुके हैं. साल 2014 चुनाव से पहले अय्यर ने ही सबसे नरेंद्र मोदी के लिये ‘चायवाला’ शब्द का इस्तेमाल किया था और उनके इस बयान का बीजेपी ने पूरे चुनाव में खूब भुनाया था.

राम मंदिर पर बोले फारूक अब्दुल्ला: …तो मैं भी एक पत्थर लगाने जाऊंगा अयोध्या

साल 2018 अय्यर का कांग्रेस की सदस्यता से निलंबन वापस ले लिया गया. यह फैसला पार्टी की अनुशासन समिति की सिफारिश के बाद लिया गया था.

WhatsApp chat