पुलवामा अटैक: फ्रांस समेत सार्क देशों ने आतंकी हमले की कड़ी निंदा की.

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में गुरुवार की मनहूस दोपहर 3.37 बजे केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल के 39 जांबाज जवान शहीद हो गए. फ्रांस और रूस समेत सार्क के कई देशों ने भारतीय जवानों पर हुए आतंकी हमले की निंदा की है. फ्रांस समेत इन देशों ने आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में भारत का साथ देने की बात कही है.

फ्रांस के विदेश मंत्री की ओर से जारी बयान में कहा गया, ”भारत पर हुए हमले की हम कड़े शब्दों में निंदा करते हैं. शहीद हुए सैनिकों के परिवारों के प्रति हमारी सहानुभूति है. हम इस मुश्किल वक्त में भारत के लोगों और सरकार के साथ हैं. आतंकवाद के खिलाफ इस लड़ाई में हम भारत का साथ हमेशा खड़े हैं.”

रूस ने भी इस हमले की निंदा की है. रूस के दूतावास की ओर से जारी बयान में कहा गया, ”हम कश्मीर के पुलवामा जिले में हुए भयावह आतंकवादी हमले की कड़ी निंदा करत हैं, जिसकी वजह 40 से अधिक सीआरपीएफ कर्मियों के बहुमूल्य जीवन का गंवाना पड़ा और कई लोग घायल हो गए.” रूस ने भी इस मुश्किल घड़ी में भारत का साथ देने की बात कही.

मालदीव गणराज्य के विदेश मंत्री ने कहा, ”हम जम्मू और कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकवादी हमले की निंदा करते हैं. हमले में शहीद हुए जवानों के परिवारों के प्रति हमारी सहानुभूति है. हम भारत के साथ मिलकर आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई जारी रखेंगे.”

भूटान के विदेश मंत्री ने कहा, ”कश्मीर में हुए आतंकवादी हमले के बारे में सुनकर दुख पहुंचा है. इस हमले की वजह से जवानों को बहुमूल्य जीवन बर्बाद हो गया. हम इस जघन्य हमले की कड़ी निंदा करते हैं और पीड़ितों, और भारत के लोगों और सरकार के परिवारों के साथ अपनी एकजुटता व्यक्त करते हैं.”

श्रीलंका के प्रधानमंत्री ने इस हमले की निंदा करते हुए कहा, ”मैं कश्मीर के पुलवामा जिले में क्रूर आतंकवादी हमले की कड़ी निंदा करता हूं. 1989 के बाद से जम्मू-कश्मीर में अब तक का सबसे भयानक आतंकी हमला है. मैं जवानों के परिवारों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करता हूं जिन्होंने अपनी जान गंवाई.”

WhatsApp chat