हरियाणा में आतंकी संगठन ‘लश्कर’ का टेरर फंडिंग मामला – NIA ने किया बड़ा खुलासा

दिल्ली में टेरर फंडिंग मामले में एक मस्जिद के इमाम मोहम्मद सलमान समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया.

हरियाणा के पलवल जिले में एक मस्जिद का निर्माण किया गया है. राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) की जांच में सामने आया है कि  इस मस्जिद के निर्माण के लिए हाफिज सईद के संगठन लश्कर-ए- तैयबा से पैसे लिए गए हैं. एनआईए की जांच के बाद हरियाणा में बनी ये मस्जिद सुरक्षा एजेंसियों के जांच के घेरे में आ गई है.

खुलाफा-ए-रशीदीन नाम की ये मस्जिद पलवल के उत्तावर जिले में बनी है. इस पूरे मामले में एनआईए ने 3 अक्टूबर को मस्जिद की तलाशी ली थी. इससे पहले दिल्ली में टेरर फंडिंग मामले में इस मस्जिद के इमाम मोहम्मद सलमान समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया था.

तीन लोगों को किया गिरफ्तार

एनआईए ने इसमें मोहम्मद सलमान के अलावा, मोहम्मद सलीम और साजिद अब्दुल वाणी को भी गिरफ्तार किया था. इन पर आरोप था कि इन सभी लोगों ने 26 सितंबर को लाहौर में स्थित फलाह-ए-इंसानियत (एफआईएफ) फाउंडेशन से आतंकी गतिविधियों के लिए पैसे लिए थे. एफआईएफ फाउंडेशन की स्थापना हाफिज सईद के जमात-उद-दावा ने की थी. इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट ते मुताबिक एनआईए की जांच में पाया गया है कि सलमान ने मस्जिद बनाने के लिए एफआईएफ से ही पैसे लिए थे.

मिला था 70 लाख का डोनेशन

एक एनआईए ऑफिसर ने बताया कि संगठन ने उत्तावर में मस्जिद बनाने के लिए सलमान को 70 लाख रुपए दिए थे. इतना ही नहीं, उसे अपनी बेटी की शादी के लिए भी पैसे दिए गए थे. ऑफिसर ने बताया कि वो फिलहाल इस बात की जांच करने में जुटे हैं कि मस्जिद को कहां-कहां से पैसे मिल रहे हैं और इन पैसों का इस्तेमाल कैसे किया जा रहा है.

इस पूरे मामले पर स्थानीय लोगों का कहना है कि ये मस्जिद विवादित जमीन पर बनाई गई है. हालांकि उन्हें सलमान के लश्कर-ए-तैयबा के साथ संबंधों के बारे में कोई जानकारी नहीं है. एनआईए फिलहाल मामले की जांच में जुटी है. मस्जिद के कर्मचारियों से पूछताछ की जा रही है. इसके अलावा खाता बही के साथ-साथ मस्जिद बनाने के लिए मिली राशी से जुड़े दस्तावेजों की जांच भी हो रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat