अनंतनाग में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में 2 आतंकी मारे गए, 4 महीने में 71 का खात्मा

दक्षिण कश्मीर में अनंतनाग जिले के बिजबेहरा में गुरुवार सुबह हुई मुठभेड़ में दो आतंकी मारे गए। सुरक्षाबलों को यहां के बागेंदर मोहल्ला में कुछ आतंकियों के छिपे होने की सूचना मिली थी। इसके बाद सर्च ऑपरेशन चलाया गया था। माना जा रहा है कि ये आतंकी चुनावों में खलल डालना चाहते थे। न्यूज एजेंसी के मुताबिक मारे गए आतंकियों की पहचान सफदर अमीन भट और बुरहान अहमद गनी के रूप में की गई है।

उनके पास से एक एके राइफल और एक एसएलआर बरामद की गई है। सेना और राज्य पुलिस ने बुधवार को ही जानकारी दी थी कि यहां इस साल जनवरी से अब तक 69 आतंकी मारे जा चुके हैं और 12 को पकड़ा गया है। पुलवामा हमले के बाद 68 दिनों में ही 41 आतंकियों को मारा जा चुका है।

घाटी में जैश को नहीं मिल रहा लीडर

लेफ्टिनेंट जनरल केजेएस ढिल्लन ने मीडिया को यह भी बताया कि पिछले साल राज्य में सेना और पुलिस ने 272 आतंकियों को मारा था। उन्होंने कहा कि अब घाटी में हालत ये हैं कि कोई भी जैश का लीडर बनने को तैयार नहीं। इसके बावजूद पाकिस्तान जैश की मदद कर रहा है। हम लगातार जैश को खत्म कर रहे हैं, खासकर पुलवामा हमले के बाद। पिछले तीन महीने में मारे गए आतंकियों में 13 पाकिस्तानी हैं। जबकि इतने ही आतंकियों को ए प्लस कैटेगरी का आतंकी माना गया था।

युवाओं का अब पुलिस की नौकरी में रुझान

राज्य के डीजीपी दिलबाग सिंह ने कहा कि आतंकी संगठनों में अब कश्मीर के युवक कम भर्ती हो रहे हैं। युवकों ने पुलिस में भर्ती होने में रुचि दिखाई है। बता दें कि पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए हमले की जिम्मेदारी जैश ने ली थी।

WhatsApp chat