भगत सिंह को फांसी होने के बाद जवाहरलाल नेहरू ने कही थी ये बातें

 

  • भगत सिंह को फांसी होने के बाद जवाहरलाल नेहरू ने कही थी ये बातें
    1 / 9

    जब भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू को पता चला कि भगत सिंह और उनके साथियों को फांसी दी दे गई है. जिसके बाद उन्होंने भगत सिंह के लिए कुछ बातें कही थी. जी हां फांसी की सजा होने के बाद उन्होंने अपनी प्रतिक्रिया जाहिर की थी. भगत सिंह की फांसी के बाद उन्होंने उनके बारे में कुछ ऐसी बातें कही थी जिन्हें आप नहीं जानते होंगे. आज हम आपको वही बातें बताने जा रहे हैं.

  • भगत सिंह को फांसी होने के बाद जवाहरलाल नेहरू ने कही थी ये बातें
    2 / 9

    बता दें, केंद्रीय संसद की कार्यवाही के दौरान बम फेंकने के आरोप में अंग्रेजों ने भगत सिंह, शिवराम राजगुरु और सुखदेव को 23 मार्च 1931 को मृत्युदंड दे दिया था. उनके इस बलिदान पर हर साल देश में शहीदी दिवस मनाया जाता है. जानिए भगत सिंह की फांसी के बाद क्या कहा था जवाहरलाल नेहरू ने?

  • भगत सिंह को फांसी होने के बाद जवाहरलाल नेहरू ने कही थी ये बातें
    3 / 9

    “उन्होंने कहा- जब लाहौर से ये भगत सिंह और उनके साथियों की फांसी की खबर आई, हम सब लोगों की एक अजीब सी हालात हो गई थी. जहां सब इस बात की उम्मीद लगाए बैठे थे कि मुल्क की आवाज पर सरकार जरूर ख्याल रखेगी वहां नतीजा दूसरा निकला”.

  • भगत सिंह को फांसी होने के बाद जवाहरलाल नेहरू ने कही थी ये बातें
    4 / 9

    “मेरे दिमाग में एक अजीब सी हसरत हो गई है. मेरे दिमाग में परेशानी कायम रहती है, हमारे सब के अंदर एक अजीब सी परेशानी है”

  • भगत सिंह को फांसी होने के बाद जवाहरलाल नेहरू ने कही थी ये बातें
    5 / 9

    “भगत सिंह की फांसी से मुल्क में एक अजीब सी लहर फैल गई है, क्या वजह है कि आज भगत सिंह का नाम सबकी जुबान पर चढ़ा हुआ है. भगत का नाम क्या कीमत हमारे लिए रखता है?
    आज भगत सिंह सबका प्यारा हो रहा है. गांव का बच्चा- बच्चा इसका नाम जानता है. आज घर घर में इसके नाम की चर्चा है. इसकी कोई वजह जरूर है”.

  • भगत सिंह को फांसी होने के बाद जवाहरलाल नेहरू ने कही थी ये बातें
    6 / 9

    “भगत सिंह क्या था वो एक नौजवान लड़का था” उसके अंदर मुल्क के लिए आग भरी पड़ी थी. वह शोला था. चंद महीनों के अंदर वह आग की एक चिंगारी बन गया जो मुल्क के एक कोने से दूसरे कोने तक फैल गई. मुल्क में अंधेरा था और चारों तरफ अंधेरा की अंधेरा नजर आता था. वहां अंधेरी रात में एक रौशनी दिखाई देने लगी”.

  • भगत सिंह को फांसी होने के बाद जवाहरलाल नेहरू ने कही थी ये बातें
    7 / 9

    “हमारा यानी कांग्रेस का प्रोग्राम साफ है. हम कहते हैं कि शांति से हम काम करेंगे, हम शांति कायम रखने की हरेक कोशिश करते हैं. हम चाहे कितनी कोशिशें क्यों न करें, हमारे रास्ते में अड़चने लगाई जा रही है. क्या भगत सिंह की फांसी से मुल्क में अशांति नहीं फैलेगी”?

  • भगत सिंह को फांसी होने के बाद जवाहरलाल नेहरू ने कही थी ये बातें
    8 / 9

    आपको बता दें, तीनों की फांसी का दिन 24 मार्च तय किया गया था. लेकिन फांसी 1 दिन पहले यानी 23 मार्च को शाम करीब 7 बजकर 33 मिनट पर भगत सिंह और उनके दोनों साथी सुखदेव और राजगुरु को फांसी दे दी गई थी.

  • भगत सिंह को फांसी होने के बाद जवाहरलाल नेहरू ने कही थी ये बातें
    9 / 9

    फांसी वाले दिन हुआ था विरोध प्रदर्शन
    तीनों वीरों की फांसी की सजा के बारे में जब देशवासियों को मालूम चला तो विरोध प्रदर्शन हुआ. बताया जाता है कि फांसी के समय बहुत ही कम लोग शामिल हुए थे. जो लोग वहां मौजूद थे उसमें यूरोप के डिप्टी कमिश्नर भी थे.

 

WhatsApp chat