News Update: पीएम मोदी का खुला चैलेंज पहले 4 पीढ़ियों का हिसाब दो, मैं तो 4 साल का हिसाब दे रहा हूं

पीएम नरेंद्र मोदी ने छत्तीसगढ़ के चुनावी अभियान को रफ्तार देते हुए शुक्रवार को अंबिकापुर में चुनावी रैली का संबोधित किया। इस रैली में पीएम मोदी ने जवाहर लाल नेहरू से लेकर अबतक के कांग्रेस नेतृत्व पर हमला बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा कि 4 पीढ़ियों तक राज करने वालों को खुद हिसाब देना चाहिए, लेकिन 4 साल वालों से जवाब मांग रहे हैं। पीएम मोदी ने कहा कि अजीत जोगी के तीन साल और दिग्गी राजा के दो साल के कार्यकाल में 60 प्रतिशत वादे पूरे नहीं किए गए। चुनाव आते ही कांग्रेसी वादों के पिटारे खोल देते है। उन्हें मालूम है कि आने वाले तो हैं नहीं। इसकारण झूठे वादे करते है।

कांग्रेस नेताओं के बयान को अपने हक में करने में माहिर पीएम मोदी ने एक बार फिर कांग्रेस लीडर शशि थरूर की टिप्पणी के बहाने पर कांग्रेस पर अटैक करते हुए पीएम मोदी ने कहा, अब कहते हैं कि नेहरू के कारण चायवाला पीएम बन गया। यदि आप लोकतंत्र का इतना सम्मान करते हैं तो एक छोटा सा काम करे, यदि आप दावा करते हैं कि पंडित नेहरू और संविधान में आपकी भूमिका के चलते एक चायवाला पीएम बना है तो फिर एक बार परिवार से बाहर के किसी शख्स को सिर्फ 5 साल के लिए कांग्रेस का अध्यक्ष बना दो। अंबिकापुर के बाद पीएम मोदी मध्यप्रदेश के शहडोल में चुनाव प्रचार के लिए पहुंचे। पीएम मोदी ने यहां कहा कि कांग्रेस का हाल मुंह में राम बगल में छुरी जैसा है। उन्होंने कहा कि ये संसद में कहते हैं कि हम प्रेम की बात करते हैं और मध्यप्रदेश में हमें बताया गया कि वे गुस्से की ही बात करते हैं। पीएम मोदी ने जनता से कहा कि वे कांग्रेस से पूछें कि आपने 55 सालों में क्या किया। पीएम मोदी ने कहा कि उन्होंने 4 पीढ़ियों में जितने शौचालय बनाए, उतने हमारी सरकार ने 4 साल में ही बना लिए।

पीएम मोदी ने कहा कि वे उल्टा हिसाब हमसे मांग रहे हैं। पहले 4 पीढ़ी का हिसाब दो, मैं तो 4 साल का जवाब हर वक्त देता फिरता हूं। उन्हें कुछ बातें चुभती हैं, चेहरा लाल-पीला हो जाता है। उन्हें लगता है कि भारत 4 पीढ़ी हमारे हाथ रहा और अब यह गले नहीं उतरता। वे 440 से 44 हो गए, लेकिन अब भी आंसू बहाते रहते हैं कि चायवाला बैठ गया, कैसे बैठ गया? उन्हें यह यकीन ही नहीं होता कि जो विरासत हमें अंग्रेजों ने दी थी, उस पर चायवाला कैस बैठ गया। जब तक आप भारत के लोकतंत्र को नहीं समझते हैं , तबतक चायवाले को गालियां ही देंगे। चायवाला पीएम बन गया, इसके लिए वह देश के सवा सौ करोड़ लोगों को क्रेडिट नहीं देने को तैयार। लेकिन, यह उनकी अलोकतांत्रिकता है कि इसका श्रेय भी वह नेहरू को ही देते हैं।

इस मौके पर पीएम ने निर्मल बाबा का नाम लिए बिना कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा कि टीवी पर एक बाबा आते हैं, जो कहते हैं कि जलेबी खाओ। आप पर कृपा हो जाएगी। ऐसे ही बाबा कांग्रेस वाले बने हुए हैं। कहते हैं कि बस एक बार उंगली दबा दीजिए, कृपा हो जाएगी। कांग्रेस की 4 पीढ़ियों को देश ने परखा है। आप बताइए कि उनकी 4 पीढ़ियों ने क्या-क्या काम किया, इसका उन्हें जवाब देना चाहिए। पीएम मोदी ने कहा, ‘गरीब का परिजन यदि बीमार हो जाए तो उसके पास सरकार के अलावा कोई सहारा नहीं होता है। यदि गांव में सड़क नहीं होगी तो विकास का लाभ कैसे पहुंचेगा। यह विकास तभी होता है, जब सरकार अपने पराये, गांव और शहर, मेरी-तेरी बिरादरी में भेदभाव न करे। इनमें से किसी भी तराजू पर आप देख लीजिए, एकमात्र बीजेपी है, जो बिना भेदभाव के विकास की राह पर चल रही है। सबका साथ, सबका विकास हमारा मंत्र है। हमें साथ भी सबका चाहिए और विकास भी सबका होना चाहिए।

पीएम मोदी ने कहा कि छत्तीसगढ़ को अटल बिहारी वाजपेयी ने बनाया। उससे पहले आंदोलन चले, गोलियां चलीं, माताओं बहनों पर गोलियां चलीं। पुरानी सरकार ने उत्तरप्रदेश बांटने के खिलाफ मुहिम छेड़ी थी। लेकिन, अटल सरकार ने बिना गोलियां चलाए उत्तराखंड और छत्तीसगढ़ बनाया। लेकिन, कांग्रेस ने तेलंगाना बनाया तो आंध्रप्रदेश के लोगों की भावनाओं का ख्याल नहीं रखा गया। 18 साल पहले आप मध्य प्रदेश में थे, तब सीएम हुआ करते थे दिग्गी राजा। अब मैं क्या कहूं कि दिग्गी राजा छत्तीसगढ़ किस मकसद से आते थे। पीएम मोदी ने कहा कि जब लोकसभा चुनावों के दौरान मैं अंबिकापुर आया था तो आप लोगों ने लाल किला बनाया था, जहां से मैंने अपना भाषण दिया था। तब कुछ लोगों को यह देखकर यकीन नहीं हुआ कि अंबिकापुर जैसे आदिवासी लोग लाल किला कैसे बना सकते हैं? ये कल्पना भी कैसे कर सकते हैं कि मोदी लाल किले से भाषण देगा, ऐसे लोगों को जवाब देने का आपके पास अब दूसरा अवसर आया है।

WhatsApp chat