हिंदुत्व का ब्रांड योगी

पांच राज्यों के चुनावों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेत़त्व में बीजेपी को मिली करारी शिकस्त के बाद यूपी की राजधानी लखनऊ में उत्तर प्रदेश नवनिर्माण सेना ने मोदी हटाओ- योगी लाओ की होर्डिंग्स लगाई हैं।
इन होर्डिंग्स पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को हटाए जाने की बात लिखी गई, साथ ही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को देश का नया प्रधानमंत्री बनाने की मांग की गई है। होर्डिंग्स में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जुमलेबाज़ बताया गया है।
होर्डिंग्स में मोदी की तस्वीर को नीचे राम मंदिर निर्माण के नाम पर हिन्दुओं से धोखा, SC/ST ऐक्ट से सवर्णो पर चाबुक, धारा 370 और जनसंख्या नियंद्वण पर चुप्पी, कश्मीरी पत्थरबाजों पर से मुकदमे की वापसी, नोटबंदी से 150 लोगों की मौत, गौरक्षकों को गुण्डों की उपाधि, जीएसटी से व्यापारियों की तबाही और सत्ता में आते ही मुस्लिम तुष्टीकरण जैसे स्लोगन लिखे हैं।
वहीं योगी आदित्यनाथ की तस्वीर के नीचे राम मंदिर निर्माण और हिन्दू राष्ट्र के लिये प्रतिबद्धता, फैजाबाद का नाम अयोघ्या, अयोध्या में दीपोत्सव, इलाहाबाद को प्रयागराज, गौकशी पर सख्ती और गौरक्षकों को संरक्षण, अवैध पशुवधशालाओं को बन्द किया, उत्तर प्रदेश का भगवाकरण किया और कांवड़यात्रा से डीजे का प्रतिबन्ध हटाने जैसे स्लोगन लिखे हैं।
नवनिर्माण सेना ने पोस्टर्स पर लिखा है, ‘योगी नहीं तो वोट नहीं’ यानी योगी आदित्यनाथ को अगर लोकसभा चुनावों में प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार नहीं बनाया गया तो बीजेपी को वोट नहीं दिए जाएंगे।
इन पोस्टर्स के ज़रिए उत्तर प्रदेश नवनिर्माण सेना ने धर्म संसद का ऐलान भी किया है। जिसमें जनवरी तक बीजेपी को राममंदिर और जनसंख्या नियंत्रण के लिए संसद में कानून बनाने का अल्टीमेटम दिया गया है।
इन होर्डिंग्स के सामने आने के बाद इन्हें हटा दिया गया है। लेकिन होर्डिंग्स के वीडियो व तस्वीरें अब सोशल मीडिया पर तेज़ी से वायरल हो रहीं है।
वहीं इस मामले में लखनऊ पुलिस भी हरकत में आ गई। होर्डिंग को हटाया जा रहा है। साथ ही उत्तर प्रदेश नव निर्माण सेना के अध्यक्ष अमित जानी पर केस दर्ज किया गया है। उसकी तलाश में छापेमारी की जा रही है।
kailash singh

WhatsApp chat