राम मंदिर पर ज्यादा समय तक नही कर सकते इंतज़ार-विश्‍व हिंदू परिषद

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इंटरव्यू के बाद राम मंदिर मुद्दे को लेकर विश्‍व हिंदू परिषद ने बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की जिसमें उसने कहा कि राम मंदिर का मुद्दा बीते 69 सालों से फंसा हुआ है. सुप्रीम कोर्ट में अब तक जजों की बेंच भी नहीं बनी है जहां मामले की सुनवाई होनी है. वीएचपी के कार्यकारी अध्यक्ष आलोक कुमार ने कहा कि मामला काफी लंबे वक्त से कोर्ट में है और हिंदू ज्यादा समय तक मंदिर निर्माण का इंतजार नहीं कर सकते हैं. प्रयागराज में लगनेवाले कुंभ मेले में 31 जनवरी को धर्म संसद होगी, जिसमें मौजूद संत आगे क्या किया जाए, इसपर फैसला होगा।
 विश्‍व हिंदू परिषद ने कहा कि न्यायिक प्रकिया के पूरे होने से पहले कानून लाया जाना चाहिए. हम इस सरकार से संसद में कानून लाने का आग्रह करते रहेंगे. यहां चर्चा कर दें कि पीएम मोदी ने एक इंटरव्यू में मंगलवार को कहा है कि अयोध्या में राम मंदिर पर अध्यादेश लाने पर कोई भी फैसला न्यायिक प्रक्रिया पूरी होने के बाद ही हो सकता है लेकिन साथ ही उन्होंने कहा कि सरकार अपनी जिम्मेदारी निभाने के वास्ते हरसंभव कोशिश करने के लिए तैयार है. मोदी की यह टिप्पणी आरएसएस समेत हिंदुत्व संगठनों की तेज होती उस मांग के बीच आयी है कि मंदिर के जल्द से जल्द निर्माण के लिए एक अध्यादेश लाया जाए.
By-kailashsingh

WhatsApp chat