हुवावे के फाउंडर ने कहा- बेटी की गिरफ्तारी राजनीति से प्रेरित, अमेरिका कंपनी को फेल नहीं कर पाएगा

 

  • अमेरिका के कहने पर कनाडा में 1 दिसंबर को हुई थी हुवावे की सीएफओ मेंग वांगझू की गिरफ्तारी
  • अमेरिका का आरोप है कि हुवावे ने ईरान पर लगे प्रतिबंधों का उल्लंघन किया, ट्रेड सीक्रेट भी चुराए
  • हुवावे दुनिया की सबसे बड़ी टेलीकॉम उपकरण निर्माता कंपनी, 5जी नेटवर्क बनाने में काफी आगे

बीजिंग. हुवावे के फाउंडर रेन झेंगफे ने अपनी बेटी और कंपनी की सीएफओ मेंग वांगझू की गिरफ्तारी को राजनीति से प्रेरित बताया है। झेंगफे ने सोमवार को एक इंटरव्यू में कहा कि मुझे अमेरिका के रवैए पर आपत्ति है। इसे बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। अमेरिका हुवावे को दबाकर उसे फेल नहीं कर सकता।

यूएस का आरोप- चीन की सरकार के इशारे पर काम करती है हुवावे

  1. चीन की स्मार्टफोन कंपनी हुवावे की सीएफओ मेंग वांगझू को पिछले साल 1 दिसंबर को कनाडा में गिरफ्तार कर लिया गया था। अमेरिका के कहने पर ऐसा हुआ था।
  2. अमेरिका का आरोप है कि मेंग ने ईरान पर प्रतिबंधों का उल्लंघन किया। हुवावे पर चीन के इशारे पर काम करने और ट्रेड सीक्रेट चुराने का भी आरोप है। कंपनी इन आरोपों से इनकार कर चुकी है।
  3. अमेरिका का यह भी कहना है कि हुवावे के उपकरणों के जरिए अमेरिका के लोगों की जासूसी की जा सकती है। इस पर हुवावे के फाउंडर ने सोमवार को कहा कि उनकी कंपनी कभी भी ऐसी गतिविधियों में शामिल नहीं होगी।
  4. अमेरिका ने पिछले दिनों अपने सहयोगी देशों से भी हुवावे के उपकरण इस्तेमाल नहीं करने की अपील की थी। रेन झेंगफे का कहना है कि हम ज्यादा एडवांस हैं इसलिए दुनिया हमारी अनदेखी नहीं कर सकती। भले ही अमेरिका दूसरे देशों को बहका रहा हो।
  5. हुवावे पर अमेरिका के आरोपों की वजह से ब्रिटेन में भी कंपनी के उपकरणों पर रोक की बात चल रही है। लेकिन, एक रिपोर्ट के मुताबिक वहां के सुरक्षा अधिकारी कंपनी को पूरी तरह बैन करने के पक्ष में नहीं हैं।
  6. हुवावे के फाउंडर का कहना है कि उनकी कंपनी ब्रिटेन में निवेश जारी रखेगी। अमेरिका हम पर भरोसा नहीं करेगा तो हम यूएस का निवेश भी यूके में शिफ्ट कर देंगे और वहां पहले से भी ज्यादा इन्वेस्टमेंट करेंगे।
  7. हुवावे के फाउंडर रेन झेंगफे चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के करीबी हैं। झेंगफे 20 साल तक चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी में थे। उन्होंने 1987 में हुवावे कंपनी शुरू की थी। वो अपनी बेटी मेंग को उत्तराधिकारी के तौर पर तैयार कर रहे हैं।

(राष्ट्रीय संभव सन्देश के व्हाट्सएप ग्रुप में ऐड होने के लिए Click यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, और यूट्यूब पर फ़ाॅलो भी कर सकते हैं.)

WhatsApp chat