1000 करोड़ रु. के बजट वाली सबसे महंगी फिल्म महाभारत भी 2019 में शुरू होगी

 

 भारत में 50 करोड़ रुपए से ज्यादा के बजट की 100 फिल्में रिलीज होंगी। वहीं, सबसे ज्यादा महंगी फिल्म महाभारत भी इसी साल बननी शुरू हो जाएगी। इसे पूरा होने में 4 से 5 साल लग सकते हैं। बजट 1,000 करोड़ रु. का है। इसमें अमिताभ बच्चन, आमिर खान, अजय देवगन, ऋतिक रोशन, फरहान अख्तर, रणवीर सिंह, अभिषेक बच्चन, सनी दिओल, जैकी श्रॉफ, गुलशन ग्रोवर, दीपिका पादुकोण, ऐश्वर्या राय बच्चन, रेखा, विद्या बालन, मनोज बाजपेयी, अनुपम खेर जैसे कई बड़े नाम शामिल करने की कोशिश की जा रही है। फिल्म के निर्माता एसएस राजामौली होंगे। बाहुबली फिल्म भी राजामौली ने ही बनाई थी।

2650 करोड़ रुपए ज्यादा कमा सकती हैं बॉलीवुड फिल्में
  1. साहो

    बजट: 300 करोड़ रु.

    स्टार: श्रद्धा कपूर, प्रभास

    रिलीज: 15 अगस्त

  2. पानीपत

    बजट: 285 करोड़ रु.

    स्टार: अर्जुन कपूर

    रिलीज: 6 दिसंबर

  3. भारत

    बजट: 200 करोड़ रु.

    स्टार: सलमान खान, कटरीना कैफ

    रिलीज: 6 दिसंबर

  4. कलंक

    बजट: 140 करोड़ रु.

    स्टार: संजय दत्त

    रिलीज: 19 अप्रैल

  5. मणिकर्णिका

    बजट: 125 करोड़

    स्टार: कंगना रनोट

    रिलीज: 25 जनवरी

  6. 5 बड़ी बायोपिक्स आएंगी

     

    फिल्म स्टार
    ठाकरे नवाजुद्दीन सिद्दीकी
    सुपर 30 ऋतिक रोशन
    द जोया फैक्टर सोनम कपूर
    छपाक दीपिका पादुकोण
    साइना नेहवाल श्रद्धा कपूर

     

  7. हर व्यक्ति फिल्मों पर औसतन 600 रु. खर्च कर रहा

     

    भारत में एक फिल्म देखने पर औसतन 200 रुपए खर्च होते हैं। एक व्यक्ति साल में औसतन तीन फिल्में देखता है। इस हिसाब से एक व्यक्ति फिल्म देखने पर साल में औसतन 600 रुपए खर्च करता है। केबल टीवी पर साल में 200 रुपए खर्च होते हैं। जबकि, अमेजन प्राइम यह सर्विस 129 रु. प्रतिमाह में दे रहा है। नेटफ्लिक्स 700 रुपए वसूल रहा है।  (स्रोत:  केपीएमजी, माॅर्गन स्टेनली रिसर्च, बीसीजी, एरिक्सन)

  8. हॉलीवुड: 1,977 करोड़ रु. से बन रही स्टार वार्स–9 आएगी

    हॉलीवुड में इस साल सीक्वल और 4डी फिल्में सबसे ज्यादा रिलीज होंगी। इनमें फ्रोजेन-2, द एंग्री बर्ड्स-2, द लिगो मूवी-2, जुमांजी-3, टॉय स्टोरी-4, टर्मिनेटर-6 और स्टार्स वाॅर्स-9 सीक्वल फिल्में होंगी। स्टार वाॅर्स-9 का बजट 1,977 करोड़ रु. है। इनके अलावा मैन इन ब्लैक इंटरनेशनल, गॉडजिला किंग ऑफ मास्टर्स बड़ी फिल्में हैं। बच्चों के लिए द सीक्रेट लाइफ ऑफ पेट्स, डोरा द एक्सप्लोरर, पोकेमॉन डिटेक्टिव पिकाचू और अलादीन भी रिलीज होंगी।

     

    बड़ी फिल्में बजट
    स्टार वाॅर्स-9 1,977 करोड़ रु.
    द लॉयन किंग 1,618 करोड़ रु.
    टॉय स्टोरी 4 1,582 करोड़ रु.
    फ्रोजेन 2 1,258 करोड़ रु.
    एवेंजर्स-एंडगेम 262 करोड़ रु.

     

  9. 30 वीडियो प्लेटफॉर्म 200 से ज्यादा वेब सीरीज लाएंगे

    इस साल देश में 30 से ज्यादा ओवर द टॉप (ओटीटी) वीडियो प्लेटफॉर्म 200 से ज्यादा वेब सीरीज ला रहे हैं। ओटीटी यानी  ऑडियो, वीडियो और वह मीडिया कंटेंट, जो हमें इंटरनेट पर बिना किसी मल्टीपल सिस्टम ऑपरेटर के कंट्रोल या डिस्ट्रीब्यूशन के मिलता है। इन प्लेटफॉर्म की कुल कमाई करीब 2500 करोड़ रु. होने की संभावना है। देश में अभी 30 फ्रंटलाइन ओटीटी वीडियो प्लेटफॉर्म हैं। 2018 में ओटीटी वीडियो का मार्केट रेवेन्यू 2000 करोड़ रु. रहा। 2019 में इसमें 500 करोड़ रु. की बढ़ोतरी संभव है।

  10. करीब 55 करोड़ होगी वीडियो ऑडियंस

    भारत में 2018 में ऑनलाइन वीडियो ऑडियंस करीब 22.5 करोड़ रहे हैं। ये संख्या लगातार बढ़ रही है। 2023 तक वीडियो ऑडियंस की संख्या करीब 55 करोड़ होने की उम्मीद है। इस ग्रोथ में सबसे अहम रोल ओटीटी प्लेटफॉर्म का होगा। फिलहाल एक व्यक्ति रोजाना औसतन 30 से 35 मिनट ओटीटी प्लेटफॉर्म को दे रहा है। इसमें 8 से 12 मिनट वह यू-ट्यूब को दे रहा है। यही नहीं, 81% ओटीटी वीडियो व्यूअर स्मार्टफोन वाले हैं।देश में पिछले 2 साल में आॅनलाइन फिल्म दिखाने वाले 30 बड़े वेब ओटीटी प्लेटफॉर्म लॉन्च हुए हैं। इनमें हॉट स्टार, वूट, अल्ट बालाजी, जी-5, हूक, इरोज नॉउ, सोनी लिव, वूट, एमएक्स प्लेयर, अमेजॉन प्राइम, नेट फिलिक्स प्रमुख हैं। अकेले वूट इस साल 18 वेब सीरीज ला रहा है, जबकि नेटफ्लिक्स 16 और अमेजॉन प्राइम 12 वेब सीरीज फिल्में लाने वाले हैं। एपलॉज एंटरटेनमेंट 45 सीरीज लाएगा।

  11. ऑनलाइन फिल्म बिजनेस बड़े पर्दे से 40 हजार करोड़ रुपए ज्यादा का हो चुका

    एमपेरे एनालिसिस फॉरकास्ट के एक अध्ययन के मुताबिक दुनिया में 2019 में ऑनलाइन फिल्म देखने का कारोबार 3.22 लाख करोड़ होने की उम्मीद है, जबकि बड़े पर्दे की फिल्मों का कारोबार 2.80 लाख करोड़ तक रह सकता है। चीन के बाद भारत दुनिया दूसरा बड़ा वीडियो मार्केट है। भारत में सबसे तेज 13% की दर से वीडियो ऑडियंस बढ़ रही है। 2018 में मोबाइल फोन पर वीडियो देखने वालों की संख्या करीब 22.5 करोड़ थी। 2019 में यह बढ़कर 31 करोड़ हो सकती है। 2019 में इंटरनेट पर वीडियो ट्रैफिक 70% तक पहुंचने का अनुमान है। (31% सर्चिंग वीडियो-म्यूजिक) के लिए हो रही है।

WhatsApp chat