भारतीय एनिमेशन इंडस्ट्री का बढ़ा कद, 15 करोड़ रुपए में बनकर तैयार हुई छोटा भीम- कुंग फू धमाका

 

बॉलीवुड डेस्क. हाल के बरसों तक इंडियन एनिमेशन फिल्में गर्मी की छुट्टियों में आया करती थीं। बच्चों को पसंद आने वाले कैरेक्टर्स ही फिल्मों में मेन लीड रहा करते थे, वो भी सिर्फ माइथोलॉजी किरदार। साथ ही वैसी फिल्मों का बजट अमूमन चार से पांच करोड़ रहा करता था, लेकिन अब ऐसा नहीं है। जानकारों के मुताबिक, हालिया रिलीज ‘छोटा भीम- कुंग फू धमाका’ का बजट 15 करोड़ से ज्यादा का है। अगले साल आज के जमाने की फीमेल लीड को केंद्र में रखकर एनिमेशन फिल्म प्लान हो रही है। डिजिटल प्लेटफॉर्म अलग-अलग फिल्ममेकर्स से घंटों एनिमेशन प्रोग्रामिंग करवा कर कंटेंट बनवा रहे हैं। माना जा रहा है कि अगले तीन से चार साल में इस जॉनर की फिल्मों की तस्वीर बदलने वाली है।

50 फीसदी टीवी देखने वाली ऑडियंस वह है जिसकी उम्र 14 साल से कम है।

2000 करोड़ का सालान टर्नओवर है इंडिया में अब तक एिनमेशन जॉनर का। इसमें वीडियो गेम्स, वीएफएक्स वगैरह जोड़ दें तो सालाना 6000 करोड़ का टर्नओवर है।

50 फीसदी ऑडियंस में भी 52 फीसदी फीमेल हैं और 48 फीसदी मेल ऑडियंस है।

कंटेंट कंज्म्पशन बढ़ा
छोटा भीम- कुंग फू धमाका के मेकर राजीव चिलाका के मुताबिक, इंडस्ट्री 20 फीसदी की दर से आगे बढ़ रही है। खासकर ओटीटी प्लेटफॉर्म से इंडियन एनिमेटेड फिल्मों की तकदीर बदल रही है। कंटेंट कंज्म्पशन काफी बढ़ा है। सब के सब एडवांस्ड कंटेंट बनवा रहे हैं। पुरानी फिल्में खरीद रहे हैं।

(राष्ट्रीय संभव सन्देश के व्हाट्सएप ग्रुप में ऐड होने के लिए Click यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, और यूट्यूब पर फ़ाॅलो भी कर सकते हैं.)

WhatsApp chat