HIV और STD से बचें, ऐसे करें सेफ सेक्स

सेक्स करने के दौरान प्रोटेक्शन का इस्तेमाल करना बेहद जरूरी है ताकि आप अनचाहे गर्भ के साथ-साथ इंफेक्शन और सेक्शुअली ट्रांसमिटिड बीमारियों से भी बचे रहें। लिहाजा कुछ बातों का हमेशा ध्यान रखें।

पार्टनर संग सेक्शुअल इंटरकोर्स के दौरान अगर आप सावधानी और सतर्कता न बरतें तो संतुष्टि और प्लेजर के साथ-साथ एक और चीज जो आपको मिल सकती है वह है STDयानी सेक्शुअली ट्रांसमिटिड डिजीज जिसे सेक्शुअली ट्रांसमिटेड इंफेक्शन भी कहते हैं। लिहाजा किसी भी तरह के इंफेक्शन के खतरे से बचने के लिए बेहद जरूरी है कि आप प्रोटेक्शन का इस्तेमाल करें।

वैसे तो सेक्स पूरी तरह से सेफ नहीं होता… और प्रोटेक्शन इस्तेमाल करने के बाद भी कुछ प्रतिशत रिस्क हमेशा बना रहता है, बावजूद इसके किसी तरह का कोई प्रिकॉशन न लेकर अपने साथ-साथ पार्टनर को भी रिस्क में डालने से बेहतर है कि आप किसी तरह का कुछ प्रोटेक्शन जरूर यूज करें। कुछ ऐसी आदतें हैं जिन्हें अगर आप सेक्स के दौरान अपना लें तो आपकी सेक्शुअल लाइफ हैपी होने के साथ-साथ हेल्दी भी रहेगी और किसी तरह के इंफेक्शन या बीमारी का खतरा भी नहीं रहेगा

किसी भी तरह की सेक्शुअल ऐक्टिविटी में शामिल होने से पहले प्रिकॉशन लेना बेहद जरूरी है लिहाजा अगर आप पार्टनर संग पहली बार सेक्स करने जा रहे हैं तो बेहद जरूरी है कि आप दोनों ही अपना टेस्ट करवा लें और इस बात को लेकर आश्वस्त हो जाएं कि आप दोनों को किसी तरह की कोई दिक्कत नहीं है।

– सेफ सेक्स का मतलब है कि हर बार सेक्स के दौरान कॉन्डम का इस्तेमाल करना ताकि इंफेक्शन और अनचाहे गर्भ के खतरे को कम किया जा सके। साथ ही कॉन्डम खरीदते वक्त इस बात का ध्यान रखें कि वह लेटेक्स कॉन्डम हो ताकि आप बीमारियों से बच सकें।

– कॉन्डम के अलावा मैनुअल पेनिट्रेशन के लिए ग्लव्स और ओरल सेक्स के लिए डेंटल डैम का इस्तेमाल करें।

– सेक्स से पहले और सेक्स के बाद हैंडवॉश करने के साथ-साथ प्राइवेट पार्ट को भी अच्छी तरह से क्लीन करें ताकि किसी तरह के इंफेक्शन का खतरा न रहे।

– uti से बचने के लिए महिलाओं को सेक्स के तुरंत बाद यूरिनेट करना चाहिए।

– अनजान पार्टनर, सेक्स वर्कर और एक से ज्यादा पार्टनर संग सेक्स करने से STD का खतरा बढ़ जाता है लिहाजा इन बातों का भी ध्यान रखें।

 

WhatsApp chat