रोटी या चावल, क्या है स्वास्थ्य के लिए ज्यादा सही

 

रोटी और चावल के बिना कोई भी भारतीय थाली अधूरी होती है. कार्ब्स और कैलोरीज से भरी इन दोनों चीजों को ज्यादातर लोग रोजाना खाते हैं. किसी की रोटी खाकर भूख मिटती है तो किसी का चावल खाए बिना पेट नहीं भरता. दोनों चीजों की अपनी-अपनी खूबियां हैं. लेकिन ऐसा कहा जाता है कि चावल खाने से मोटापा बढ़ता और रोटी किसी को हजम नहीं होती. पर हम आपको बताएंगे कि रोटी या चावल में से कौन-सा ज्यादा सही है.

रोटी और चावल दोनों ही अनाज हैं और दोनों कार्बोहाइड्रेट के बढ़िया स्रोत हैं. हालांकि रोटी गेहूं से बनती है इसलिए फाइबर्स भी होते हैं. जोकि सेहत के लिए जरूरी हैं. वहीं चावल में कार्बोहाइड्रेट्स और स्टार्च होता है.

चावल कई राज्‍यों में मुख्य आहार के रूप में इस्तेमाल है. असल में दुनियाभर में चावल बड़े पैमाने पर इस्तेमाल किया जाता है. भारतीय खाने में चावल का जिक्र न हो ऐसा हो ही नही सकता. भारतीय खाने में  रोटी या चावल दोनों ही सब्जियों के साथ खाया जाता है, लेकिन जब भी बात होती है वजन घटाने की या फिट दिखने की तो रोटी के साथ-साथ चावल को भी नजरअंदाज कर दिया जाता है. जबकि ऐसा होना नहीं चाहिए.

रोटी पोषण से भरपूर होती है, लेकिन इसमें सोडियम पाया जाता है. हर 120 ग्राम गेहूं के आटे में 190 मिलीग्राम सोडियम होता है. रोटी में फाइबर की मात्रा जायदा होने से यह आपकी छोटी-छोटी भूख को खत्म कर ओवरइटिंग से बचाती है. रोटी में calcium, potaasium phosphorous, iron भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं. रोटी पचने में वक्त लेती है. इसीलिए यह ब्लड शुगर लेवल नॉर्मल रखने में मददगार साबित होती है. स्वस्थ रहने के लिए एक व्यक्ति को रोजाना 4-5 रोटी खानी चाहिए. रोटी खाने से भूख भी कम लगती है जिससे फास्ट खाने की लत कम होती है.

चावल में अधिक vitamin और minerals होते हैं. चावल भी दो तरह के आने लगे हैं ब्राउन और व्हाइट. ब्राउन राइस में maganese, selenium, phosphorous और magnesium होता है. चावलों में सोडियम नहीं होता. चावल में lower dietry फाइबर होता है. इनमें प्रचूर मात्रा में कैलोरी होती है और इसमें स्टार्च भी अधिक होता है. इसीलिए यह जल्दी पच जाता है. चावल पसंद करने को ब्राउन राइस की ओर रुख करना चाहिए.
लेकिन कुछ लोग बीमारी की वजह से चावल नहीं खा पाते तो कुछ रोटी. हालांकि दोनों चीजें स्वास्थ्य के लिए जरूरी और लाभकारी हैं. इसलिए एक संतुलित आहार में इन दोनों को शामिल करना ज्यादा जरूरी है.

WhatsApp chat