प्लेन 6 घंटे से ज्यादा लेट तो एयरलाइन लौटाएगी पैसे या नई फ्लाइट में अरेंज कराएगी टिकट

 

यूटिलिटी डेस्क. उड्डयन मंत्री सुरेश प्रभु ने बुधवार को विमान यात्रियों के अधिकार बताने वाला बुकलेट जारी किया। इसके मुताबिक घरेलू फ्लाइट 6 घंटे से ज्यादा लेट है तो एयरलाइन वैकल्पिक फ्लाइट उपलब्ध कराएगी या टिकट के पूरे पैसे लौटाएगी। यात्रा की तारीख से दो हफ्ते पहले तक फ्लाइट रद्द होने की सूचना दी जाती है तब भी एयरलाइन वैकल्पिक फ्लाइट या पूरा रिफंड देगी। ये नियम पहले से लागू है। यात्रियों की जानकारी के लिए इन्हें बुकलेट के रूप में जारी किया गया है।

उड्डयन मंत्री सुरेश प्रभु ने यात्रियों के अधिकार बताने वाला बुकलेट किया जारी

  1. बुकिंग के 24 घंटे के अंदर टिकट रद्द कराने पर कैंसिलेशन चार्ज नहीं

    बुकिंग के 24 घंटे के अंदर टिकट रद्द कराने पर कैंसिलेशन चार्ज नहीं लगेगा, लेकिन फ्लाइट की तारीख से कम से कम चार दिन पहले टिकट रद्द होना चाहिए। किसी भी परिस्थिति में कैंसिलेशन चार्ज टिकट के पैसे से ज्यादा नहीं होगा।

    • बुकिंग के समय ही एयरलाइन यात्री को बताएगी कि टिकट रद्द कराने पर कितने पैसे वापस मिलेंगे। बुकिंग के 24 घंटे के भीतर यात्री के नाम में तीन अक्षर तक सुधार करने पर कोई शुल्क नहीं लगेगा।
    • हर एयरपोर्ट 30 मिनट तक मुफ्त वाई-फाई सेवा देगा। ज्यादा बुकिंग की स्थिति में किसी यात्री को विमान में चढ़ने नहीं दिया जाता है और एयरलाइन एक घंटे के भीतर दूसरी फ्लाइट में जगह दे देती है तो यात्री हर्जाना नहीं मांग सकेगा।
  2. ओवर बुकिंग: 20,000 रु. तक हर्जाना

    एयरलाइन ने एक घंटे में दूसरी फ्लाइट उपलब्ध कराई तो कोई हर्जाना नहीं मिलेगा। 24 घंटे में दूसरी फ्लाइट उपलब्ध कराने पर 10,000 रुपए और इसके बाद 20,000 रुपए तक का हर्जाना मिलेगा। यात्री वैकल्पिक फ्लाइट नहीं लेता है तो 20,000 रुपए तक रिफंड का हकदार होगा। टिकट के पैसे नकद दिए तो रिफंड तत्काल मिलेगा। क्रेडिट कार्ड से पेमेंट करने पर 7 दिन में पैसे मिलेंगे।

  3. फ्लाइट लेट : 20,000 रुपए तक दिया जाएगा हर्जाना

    फ्लाइट में देरी की वजह से दूसरी फ्लाइट छूटती है तो 20,000 रुपए तक हर्जाना मिलेगा। रात 8 से 3 बजे के बीच की फ्लाइट 6 घंटे से ज्यादा लेट होती है तो एयरलाइन मुफ्त में होटल उपलब्ध कराएगी।

  4. दिव्यांग यात्री : गाइड डॉग साथ में ले जा सकेंगे

    एयरलाइन दिव्यांगों को जरूरी डिवाइस, सहयोगी या गाइड डॉग ले जाने से मना नहीं कर सकती है। यात्री को टिकट लेते समय ये जानकारियां देनी पड़ेंगी।

  5. यात्रा में मौत : 20 लाख रुपए मिलेगा मुआवजा

    घरेलू उड़ान में किसी वजह से यात्री को शारीरिक क्षति पहुंचती है या मौत हो जाती है तो एयरलाइन को 20 लाख रुपए तक हर्जाना देना पड़ेगा। प्राकृतिक मौत पर कोई मुआवजा नहीं मिलेगा।

  6. सामान खोना : 20,000 रुपए तक हर्जाना मिलेगा

    सामान खोने पर कम से कम 3,000 रुपए हर्जाना मिलेगा। सामान में देरी या नुकसान होने पर एयरलाइन कम से कम 1,000 रुपए हर्जाना देगी। अधिकतम हर्जाना 20,000 रुपए प्रति यात्री है।

(राष्ट्रीय संभव सन्देश के व्हाट्सएप ग्रुप में ऐड होने के लिए Click यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, और यूट्यूब पर फ़ाॅलो भी कर सकते हैं.)

WhatsApp chat