राफेल डील पर बैकफुट पर आए राहुल गांधी? ऑडियो टेप को लेकर हटना पड़ा पीछे

नई दिल्ली। कांग्रेस पार्टी ने बुधवार सुबह जिस ऑडियो टेप को जारी कर राफेल डील में घोटाला होने की बात कही थी उसपर राहुल गांधी को लोकसभा में पीछे हटना पड़ा। लोकसभा में जब राफेल डील पर राहुल गांधी ने सरकार पर घोटाले के आरोप लगाए और उस कथित ऑडियो टेप को सदन में सुनाने की इजाजत मांगी तो लोकसभा अध्यक्ष ने राहुल से उस टेप की पुष्टी के बारे में पूछा, ऐसा होने पर राहुल गांधी ने टेप को लोकसभा में सुनाने का अपना फैसला वापस ले लिया।

हालांकि इसके बावजूद राहुल गांधी ने राफेल डील को लेकर सरकार पर घोटाले का आरोप लगाया और कई तरह के सवाल उठाए। राहुल गांधी ने पूछा, 126 की जगह 36 राफेल खरीदने का फैसला क्यों? अभी तक एक भी जहाज देश क्यों नहीं आया? मोदी से एक सवाल-पुरानी डील क्यों बदली? क्या एयरफोर्स से पूछे बिना डील बदली गई? यूपीए ने 526 करोड़ की कीमत पर डील की, नई डील में कीमत 526 से 1600 करोड़ क्यों हुई? राहुल गांधी ने कहा कि हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (HAL) 70 साल से एयरक्राफ्ट बना रही है और HAL के बनाए जहाज ने 1965 की जंग जीती।

बुधवार को कांग्रेस की तरफ से एक ऑडियो टेप जारी किया गया, और पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर पर आरोप लगाय गया है कि उनके कमरे में राफेल से जुड़ी फाइलें रखी गई हैं, राहुल गांधी ने उस टेप को जब लोकसभा में सुनाने की बात कही तो सत्तापक्ष की तरफ से केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि अगर राहुल गांधी उस टेप की पुष्टी करते हैं तो टेप को सुनाया जाए। स्पीकर ने भी टेप को लेकर राहुल गांधी से यही सवाल किया, स्पीकर की तरफ से जब  राहुल गांधी को टेप की पुष्टी के बारे में कहा गया तो वे टेप को सुनाने से पीछे हट गए।

WhatsApp chat