मानहानि मामले मुंबई के बाद अब पटना की अदालत से भी राहुल को जमानत

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी को लोकसभा चुनावों के दौरान दिए गए बयानों का हिसाब अब चुकाना पड़ रहा है। गुरुवार को एक मानहानि के मामले में मुंबई के बाद अब राहुल आज पटना की अदालत से उन्हें जमानत मिल गई है।

कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष राहुल गांधी को लोकसभा चुनावों के दौरान दिए गए बयानों का हिसाब अब चुकाना पड़ रहा है। गुरुवार को एक मानहानि के मामले में मुंबई के कोर्ट से जमानत मिलने के बाद अब राहुल को आज पटना की एक अदालत ने राहुल को जमानत दे दी है। एमपी एमएलए कोर्ट के विशेष जज कुमार गुंजन ने इस मामले में सुनवाई करते हुए राहुल गांधी को दस-दस हजार के दो मुचलके पर जमानत दे दी है। एमपी एमएलए कोर्ट से जमानत मिलने के बाद राहुल गांधी ने मीडिया से बात की। राहुल ने अध्यक्ष पद छोड़ने पर कहा की नरेंद्र मोदी पर बोलने के कारण केस दर्ज किया गया। राहुल ने कहा देश का संविधान बचाने, गरीबो और किसानों को लेकर उनकी लड़ाई जारी रहेगी।

बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी की ओर से दायर कराए गए मानहानि का मामले में पटना की अदालत में पेश होने से पहले कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा, ‘‘सत्यमेव जयते।’’ गांधी ने पटना पहुंचने से पहले ट्वीट कर कहा, ”मैं पटना की दीवानी अदालत में दिन में दो बजे पेश होऊंगा। आरएसएस/भाजपा में मेरे राजनीतिक विरोधियों की ओर से मुझे परेशान करने और धमकाने के लिए दायर किया गया यह एक और मामला है। सत्यमेव जयते।”

दरअसल, गांधी बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी द्वारा उनके खिलाफ दायर मानहानि के एक मामले के सिलसिले में शनिवार दोपहर पटना की एक अदालत में पेश होंगे। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता ने गत अप्रैल में मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट (सीजेएम) की अदालत में यह मामला दायर किया था।

सुशील मोदी ने उक्त मामला गांधी द्वारा कर्नाटक के कोलार में एक चुनावी रैली में की गई टिप्पणी करने पर आपत्ति जताते हुए दायर किया था कि सभी चोरों के उपनाम मोदी क्यों हैं। गांधी का इशारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बैंक धोखाधड़ी आरोपी नीरव मोदी और इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के पूर्व कमिश्नर ललित मोदी की ओर था।

मुजफ्फरपुर जाने की इजाजत नहीं 

मानहानि के मामले में शनिवार को पटना की एक अदालत में पेश होने जा रहे रहे कांग्रेस नेता राहुल गांधी मुजफ्फरपुर नहीं जा सकेंगे। प्रशासन ने इस दौरे की अनुमति नहीं दी है। प्रशासन के अनुसार उनके जाने से चमकी बुखार से पीड़ित बच्चों और उनके परिजन को दिक्कत हो सकती है। गांधी का मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार से प्रभावित बच्चों, उनके परिवारों तथा मृत बच्चों के परिजन से मिलने का विचार था। पार्टी के उच्च पदस्थ सूत्र ने बताया कि प्रशासन की ओर से अनुमति नहीं मिलने के कारण गांधी मुजफ्फरपुर नहीं जा सकेंगे। सूत्र ने कहा, ”पहले यह विचार था कि राहुल गांधी मुजफ्फरपुर जाएंगे और पीड़ित परिवारों से मुलाकात करेंगे।”

(राष्ट्रीय संभव सन्देश के व्हाट्सएप ग्रुप में ऐड होने के लिए Click यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, और यूट्यूब पर फ़ाॅलो भी कर सकते हैं.)

WhatsApp chat