शारदा चिटफंड घोटाला: IPS राजीव कुमार पर लटकी गिरफ्तारी की तलवार, CBI ने आज पूछताछ के लिए बुलाया

सीबीआई ने आईपीएस राजीव कुमार के खिलाफ एयरपोर्ट लुकआउट सर्कुलर जारी करा दिया है. सुप्रीम कोर्ट की तरफ से राजीव कुमार को दी गई छूट खत्म हो चुकी है

नई दिल्लीबंगाल कैडर के आईपीएस अधिकारी और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के करीबी राजीव कुमार पर सीबीआई आज अपना शिकंजा और कस सकती है. सूत्रों का दावा है कि सीबीआई ने राजीव कुमार को आज पूछताछ के लिए बुलाया है. सूत्रों के मुताबिक, इसके अगले चरण में सीबीआई राजीव कुमार के जवाबों से संतुष्ट ना होने पर उनकी गिरफ्तारी भी कर सकती है.

हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटा सकते हैं राजीव

सीबीआई ने राजीव कुमार के खिलाफ लुक आउट सर्कुलर जारी करा दिया है. सूत्रों के मुताबिक सीबीआई को आशंका थी कि राजीव कुमार किसी बहाने से कुछ समय के लिए देश छोड़ कर जा सकते है. लिहाजा सीबीआई ने उनके खिलाफ एयरपोर्ट लुकआउट सर्कुलर जारी करा दिया है. सुप्रीम कोर्ट की तरफ से राजीव कुमार को दी गई छूट खत्म हो चुकी है और अब राजीव कुमार संभवतः कलकत्ता हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाने वाले हैं.

CBI का राजीव कुमार पर सबूत मिटाने के आरोप

बता दें कि सीबीआई ने शारदा चिटफंड मामले में एसआईटी प्रमुख रहे राजीव कुमार पर सबूत मिटाने और जांच में असहयोग का आरोप लगाते हुए गिरफ्तारी की मांग की है. प.बंगाल सरकार और राजीव कुमार ने इसे साज़िश बताया है, सीबीआई पर बीजेपी के इशारे पर काम का आरोप लगाया है.

फरवरी में राजीव कुमार पर छापेमारी के बाद हुआ था हाई वोल्टेज ड्रामा

बता दें कि इसी साल फरवरी महीने में राजीव कुमार जब कोलकाता के पूर्व पुलिस कमिश्नर थे तब सीबीआई की 40 सदस्यों की टीम पूछताछ के लिए पहुंची थी. लेकिन वहां मौजूद कर्मियों ने सीबीआई की टीम को रोक दिया था. बाद में उन्हें हिरासत में ले लिया गया था. यहीं से सीबीआई और ममता सरकार के बीच तनातनी शुरू हो गई और ममता बनर्जी राजनीतिक बदले की कार्रवाई बताते हुए धरने पर बैठ गईं. तीन दिनों तक यह धरना चला था.

शिलॉन्ग राजीव कुमार से पूछताछ कर चुकी है सीबीआई

इस दौरान करीब-करीब 20 विपक्षी पार्टियों ने ममता का साथ दिया. वहीं सरकार ने शारदा चिटफंड में घोटाले की जांच की दलील देते हुए कार्रवाई को सही बताया. ममता बनर्जी के साथ दरने पर खुद राजीव कुमार भी बैठे. पूरा मामला सुप्रीम कोर्ट में गया. सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई की याचिका पर कहा कि राजीव कुमार जांच में सहयोग करें हालांकि उन्हें गिरफ्तार नहीं किया जाए. जिसके बाद उनसे शिलॉन्ग में पूछताछ का आदेश दिया गया. शिलॉन्ग राजीव कुमार से सीबीआई कई दौर की पूछताछ कर चुकी है.

(राष्ट्रीय संभव सन्देश के व्हाट्सएप ग्रुप में ऐड होने के लिए Click यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, और यूट्यूब पर फ़ाॅलो भी कर सकते हैं.)

WhatsApp chat