भोपाल में इस सीजन की मंगलवार सबसे ठंडी रात

 

भोपाल. राजधानी में हाड़ कंपा देने वाली सर्दी का दौर शुरू हो गया है। मंगलवार की रात इस सीजन की सबसे ठंडी रही। न्यूनतम तापमान 6.2 डिग्री दर्ज किया गया। पचमढ़ी में 2.0, खजुराहो 3.1, ग्वालियर में 4.4, बैतूल में 6.2 डिग्री दर्ज किया गया है। मौसम विभाग के अनुसार अब कड़ाके की सर्दी का दौर शुरू हो गया है। इसमें उतार-चढ़ाव जरूर होते रहेंगे।

शहर में मौसम के तेवर सर्द बने हुए हैं। राजधानी में कड़ाके का सर्दी का असर देखा जा रहा है। लोगों ने मार्निंग वॉक का समय बदल दिया है। सुबह आठ बजे तक सड़कें सूनी नजर आ रही हैं। सोमवार से स्कूलों का समय बदलने से बच्चों को राहत मिली है। मंगलवार को पांचवें दिन भी दिन और रात का तापमान सामान्य से कम रहा। मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि अनुमान के मुताबिक एक- दो दिन और ऐसी ही ठंड पड़ेगी।

मंगलवार को दिन का तापमान 22.0 डिग्री दर्ज किया गया। यह लगातार पांचवें दिन सामान्य से 4 डिग्री कम रहा। दिन में 12 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से ठंडी हवा चली। बुधवार को हवाओं की रफ्तार तो जरूर कम हुई है, लेकिन तापमान गिरने से लोग ठिठुरते हुए नजर आए।

दिन की राहत के बाद रात ने फिर कंपाया : ग्वालियर में मंगलवार को धूप खिलने के बाद थोड़ी राहत महसूस कर रहे लोगों को रात ने कंपा दिया। न्यूनतम तापमान 4.4 डिग्री दर्ज किया गया। धूप खिलने से कोल्ड-डे से राहत मिल गई, लेकिन रात को गलन भरी सर्दी ने मुश्किल बढ़ा दी। मौसम वैज्ञानिक उमाशंकर चौकसे के मुताबिक, अगले 24 घंटे के दौरान ग्वालियर-चंबल संभाग में शीतलहर चलने की संभावना है। इसका कारण उत्तर से आने वाली सर्द हवा है, जिसके चलते तापमान में गिरावट आएगी। यदि दिन का तापमान सामान्य से 5 डिग्री नीचे पहुंच गया तो अंचल शीतलहर की चपेट में आ जाएगा।

वजह उत्तरी हवा से गिरा पारा : वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक वाईके श्रीवास्तव ने बताया कि हवा का रुख  उत्तर व उत्तर पूर्वी बना हुआ है। उत्तर से सर्द हवा आ रही है। इस वजह से दिन के तापमान में कमी आई। ठंडी हवा चलने से रात का तापमान भी 8 डिग्री से कम रहा।

इसलिए बढ़ सकता है तापमान : वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक पीके साहा ने बताया कि बंगाल की खाड़ी में बना चक्रवाती तूफान फेथाई कमजोर हो गया है। इसके कारण उत्तरी सर्द हवा तेजी से आ रही थी। अब हवा की यह रफ्तार कम हो गई है। इस वजह से एक दो दिन बाद दिन और रात के तापमान में बढ़ोतरी की संभावना है।

WhatsApp chat