राहुल ने कहा- मोदी डरपोक व्यक्ति हैं; भाजपा ने पूछा- जीजा ने कारवां कैसे लूटा?

 

  • कांग्रेस अल्पसंख्यक सम्मेलन में राहुल के तल्ख तेवर, कहा- मोदी की मुझसे 10 मिनट डिबेट करा दो… भाग जाएगा
  • भाजपा ने राहुल की भाषा पर आपत्ति उठाई, कहा- लगता है राहुल अपने गुरूर के नशे में हैं
  • भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा- राहुल प्रधानमंत्री के लिए अपशब्दों का प्रयोग कर रहे

नई दिल्ली. तालकटोरा स्टेडियम में कांग्रेस के अल्पसंख्यक अधिवेशन में पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को डरपोक व्यक्ति कहा। राहुल ने भाजपा को चुनौती दी कि मोदीजी के साथ उनकी 10 मिनट बहस करा दो, वह भाग जाएगा। भाजपा ने राहुल के इस भाषण पर ऐतराज जताया है। प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि प्रधानमंत्री के लिए तू-तड़ाक और अपशब्दों वाली भाषा का इस्तेमाल राहुल गांधी की विकृत मानसिकता को दिखाता है। पात्रा ने कहा कि राहुल यह बताएं कि जीजा ने कारवां कैसे लूटा?

नरेंद्र मोदी पर राहुल की तीखी टिप्पणियां

‘मोदी भाग जाएगा’
राहुल ने कहा, ‘‘नरेंद्र मोदी जी को मेरे साथ 10 मिनट के लिए स्टेज पर खड़ा कर दो। मेरे साथ नरेंद्र मोदी का नेशनल सिक्युरिटी के मुद्दे पर डिबेट करा दो। भाग जाएगा… भाग जाएगा। मेरा कहना है कि ये डरपोक व्यक्ति है। मैं इसको पहचान गया हूं। ये डरता है। जब इसके सामने आकर कोई खड़ा हो जाए और कहे कि मैं नहीं जाऊंगा पीछे, क्या करोगे? तो नरेंद्र मोदी हाथ दिखाते हैं और लौट जाते हैं।’’ इस टिप्पणी के बाद राहुल भी मंच से चलकर पीछे की तरफ जाने लगे, फिर माइक के पास लौट आए। उनके ये हावभाव देखकर कांग्रेस कार्यकर्ता तालियां बजाने लगे। मंच पर बैठे कांग्रेस के नेता भी उठकर ताली बजाने लगे।

‘चौकीदार चोर है’
उन्होंन कहा- 2019 में नरेंद्र मोदी, भाजपा और संघ को कांग्रेस पार्टी हराने जा रही है। भाजपा के लोग कहते थे अच्छे दिन, दूसरी तरफ जनता कहती थी कि आएंगे। अब देश में कांग्रेस पार्टी का नेता नहीं, दिल्ली-महाराष्ट्र के किसी भी कोने में कोई कहता है चौकीदार (लोगों ने चोर है-चोर है की आवाज लगाई)। मैं देश के चौकीदारों से माफी मांगना चाहता हूं कि आप बहुत अच्छा काम करते हो, मैं सिर्फ एक चौकीदार की बात करता हूं जो (लोगों ने चोर है-चोर है की आवाज लगाई)।

‘ध्यान से देखेंगे तो मोदी के चेहरे पर घबराहट दिखेगी’
कांग्रेस अध्यक्ष बोले, “आपने ध्यान से टीवी पर मोदीजी का चेहरा देखा है? सचाई को कोई छिपा नहीं सकता। अगर आप ध्यान से देखेंगे तो मोदी के चेहरे पर घबराहट दिखेगी। डर देखेंगे। 2019 में नरेंद्र मोदी जी को पता चल गया है कि हिंदुस्तान का बांटने और नफरत फैलाने से देश पर राज नहीं किया जा सकता।’

‘शेर के बच्चे के सामने कायर भागते हैं’
राहुल ने कहा- चीन की सेना डोकलाम में बैठ जाती है। नरेंद्र मोदी हवाई जहाज में उड़कर बीजिंग जाता है। चीन की सरकार के साथ बिना एजेंडा बात होती है। चीन को पता चल जाता है कि इसका सीना 56 इंच का नहीं है, 4 इंच का है। नेशनल सिक्युरिटी की बात करता है, उसने जाकर हाथ जोड़े हैं चीन के सामने। मैं आपको उसका कैरेक्टर बताता हूं। जब शेर के बच्चे कायरों के सामने आते हैं तो कायर भागते हैं।

‘नरेंद्र मोदी फ्रंट फेस, भागवत रिमोट कंट्रोल’
“संघ कहता है कि हिंदुस्तान के संविधान को परे कर दिया जाए और देश को नागपुर से चलाया जाए। हर सिस्टम में संघ वाले अपने लोग डालते हैं। इलेक्शन कमीशन में अपने लोग डालते हैं। उनका लक्ष्य हिंदुस्तान के हर संस्थान को खत्म करना है। क्या नाम है उनके बॉस का मोहन भागवत। मोहन भागवतजी पूरे देश को पीछे से चलाएंगे। नरेंद्र मोदी फ्रंट फेस हैं, मोहन भागवतजी रिमोट कंट्रोल हैं और यही उनकी सोच है।’

भाजपा का तीखा जवाब- तू इधर-उधर की बात ना कर
अल्पसंख्यक अधिवेशन में राहुल के भाषण के तुरंत बाद भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने तीखा जवाब दिया। पात्रा ने कहा- लोकतांत्रिक प्रक्रिया से चयनित हुए प्रधानमंत्री के लिए राहुल जी अपशब्दों का प्रयोग करते हैं। ये राहुल गांधी का अपरिपक्वता और खराब मानसिकता दिखाती है। मुझे भी मन कर रहा है कि राहुल गांधी को तुम कहकर संबोधित करूं, लेकिन यह भाजपा की संस्कृति नहीं है। तकलीफ होती है कि राहुलजी जैसे लोग अपने को नेता कहते हैं। तू इधर-उधर की बात ना कर, यह बता जीजा ने कारवां कैसे लूटा।

‘कानून राहुलजी की ड्योढ़ी पर नाक नहीं रगड़ेगा’
पात्रा ने कहा- ये दोनों अपराधी, अपराधी नंबर वन राहुल गांधी और अपराधी नंबर 2 रॉबर्ट वाड्रा। 600 करोड़ आयकर की चोरी की। अपराधी नंबर दो ने आपकी और हमारी जेब से 5 हजार करोड़ की चोरी की। अपराधी नंबर एक ने अपराधी नंबर दो को पाला है। अरे राहुलजी आपको लगता था कि देश में भ्रष्टाचार करो और कानून की प्रक्रिया आपके खिलाफ कार्रवाई ना करे और आप लंदन में जाकर गुलछर्रे उड़ाओ। यह आपकी आदत है। इस न्यू इंडिया में कोई बड़ा हो या छोटा को कानून सबके लिए बराबर है। कानून राहुल जी की ड्योढ़ी पर नहीं झुकेगा। कानून अपराधियों के आगे नाक नहीं रगड़ेगा, अपराधी नाक रगड़ेंगे।

‘राहुल-ममता संघ के लोगों को निकालकर रोहिंग्या-बांग्लदेशियों को रखेंगे’
उन्होंने कहा, “अमित शाह जी पर तंज कसा कि भारत को सोने की चिड़िया कहते हैं और उसे प्रोडक्ट मानते हैं। भारत हमेशा से सोने की चिड़िया थी और नरेंद्र मोदी की अगुवाई में यह विश्वगुरु बनने जा रहा है। प्रोडक्ट उन लोगों के िलए है जो आज ईडी के सामने पेश हो रहे हैं, जो देश को बेचकर लंदन में ऐश कर रहे थे। यह राहुल गांधी की विकृत मानसिकता है। बहुत तकलीफ होती है। राहुलजी ने कहा कि हम सत्ता में आएंगे तो संघ के एक-एक व्यक्ति को चुनकर बाहर निकाल देंगे। आपको जगह चाहिए रोहिंग्या और बांग्लादेशियों को रखने के लिए। राहुल, ममता सब मिलकर रोहिंग्या और बांग्लादेशियों को रखेंगे।’

‘ट्रिपल तलाक बैन करने का ऐलान तुष्टिकरण की पराकाष्ठा’
पात्रा ने कहा- तुष्टिकरण की पराकाष्ठा देखिए कि सत्ता में आएंगे तो ट्रिपल तलाक बैन हो जाएगा। आप कहते हैं कि संस्थानों पर मोदीजी हमला कर रहे हैं। ट्रिपल तलाक को उच्चतम न्यायालय ने बैन िकया है। उसने कहा कि ट्रिपल तलाक संवैधानिक नहीं है। महिलाओं के पास जीने का अधिकार होना चाहिए। उनकी पार्टी स्टेज से ऐलान करती है कि हम सत्ता मेें आए तो हम सुप्रीम कोर्ट का ख्याल नहीं करेंगे, ट्रिपल तलाक को बैन कर देंगे। यह किस प्रकार की मध्ययुगीन मानसिकता है। भारत की जनता देख रही है, ना मुस्लिम महिलाएं और ना ही भारत की जनता इस विकृत मानसिकता के लिए राहुल गांधी को माफ करेगी।

‘नशे में भाषण दे रहे थे राहुल गांधी’
संबित पात्रा ने कहा कि आज हमने राहुल गांधी को भाषण देते हुए सुना तो लगा कि वे नशे में हैं। मैं कहना चाहूंगा कि वे गुरूर के नशे में हैं। नेताओं को कभी भी नशे में भाषण नहीं देना चाहिए। जनता गुरूर का नशा तोड़ देती है। हमने उनके जीजाजी के बारे में सवाल पूछे थे और उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया। आज भी हम सवाल पूछेंगे।

भाजपा ने वाड्रा, भंडारी और चड्ढा के ईमेल दिखाए, सवाल पूछे

1) संबित पात्रा ने कहा- जो भी ईमेल हम आपको दिखा रहे हैं, सब पब्लिक डोमेन में है। पहला ईमेल 8-3-2010 का है। यह ईमेल संजय भंडारी के रिश्तेदार सुमित चड्ढा ने रॉबर्ट वाड्रा को भेजा। इसमें हाय रॉबर्ट से बात शुरू होती है। मनोज का जिक्र किया गया है। इस मनोज अरोड़ा को वाड्रा ने ईडी के सामने अपना कर्मचारी माना है। लंदन स्थित महल के किचन में क्या लगेगा, बाथरूम कैसा हो, महंगे वॉलपेपर और पेंटिंग्स लगा दिए। इस सबका जिक्र है। और, ये लोग यहां गरीबों के मसीहा बनते हैं।

2) पात्रा ने कहा कि दूसरा ईमेल 11 मार्च 2010 को सुमित चड्ढा ने वाड्रा को भेजा। इसमें बताया कि लंदन स्थित प्रॉपर्टी की पेंटिंग्स 70 फीसदी खत्म हो गई है। घर कैसे महल बन रहा है। इसकी बातचीत होती है।

3) 20 मार्च 2010 को चड्ढा ने वाड्रा को लिखा कि अटैचमेंट भेज रहा हूं। इसमें पैसों का जिक्र है कि कितने में, क्या आया।

4) 2 अप्रैल 2010 को महल की खिड़की के साइज के बारे में बताया गया है।

5) 7 अप्रैल 2010 को चड्ढा ने रॉबर्ट वाड्रा को ई-मेल भेजा। डेल्टा भंडारी ऐट हॉट मेल डॉट कॉम आईडी का भी जिक्र है। ये भंडारी कौन है? करोड़ों के बजट की आवश्यकता है। इसका जिक्र है कि हमें यह पैसे भेज दीजिए।

6) 9 अप्रैल 2010 को भंडारी और वाड्रा को चड्ढा ने भेजा। सुमित चड्ढा 15 लाख 75 हजार का बजट अभी चाहिए। 10 हजार पाउंड मिल गए हैं और यह मिस्टर बी से मिले हैं। ये बी कौन हैं? राहुल जी इसका जवाब कौन देगा?

7) 14 अप्रैल 2010 का भंडारी को चड्ढा ने मेल भेजा। मैं अपने फायदे और मुनाफे के लिए काम नहीं कर रहा हूं। मैं केवल गुडविल के लिए काम कर रहा हूं।

8) पात्रा ने बताया कि 17 अप्रैल 2010 के मेल में चड्ढा ने वाड्रा और भंडारी को मेल भेजा। लंदन स्थित महल में जो-जो काम किया गया, उसका जिक्र इस ईमेल में है। राहुलजी डेल्टा भंडारी कौन है?

9) 15 अप्रैल 2010 को वाड्रा ने मेल भेजा सुमित चड्ढा को। इसमें चड्ढा को पैसे ना मिलने की बात पर वाड्रा ने जवाब दिया था। वाड्रा ने कहा था कि उन्हें यह नहीं मालूम था कि आपको (चड्ढा) कोई पैसा नहीं भेजा गया है। वाड्रा ने कहा कि हम अगली सुबह यह ठीक कर देंगे। मनोज सारी चीजें सही कर देगा। इसके बाद 7 अप्रैल 2010 को मिस्टर एम ने वाड्रा को ईमेल भेजा।

(राष्ट्रीय संभव सन्देश के व्हाट्सएप ग्रुप में ऐड होने के लिए Click यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, और यूट्यूब पर फ़ाॅलो भी कर सकते हैं.)

WhatsApp chat