मरीजो को मिले निःशुल्क दवाएं,जांच के लिए बाहर भेजा तो होगी कार्रवाई

 

चिकित्सा मंत्री शर्मा ने किया राजकीय चिकित्सालय का निरीक्षण

बाड़मेर,  चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा ने गुरूवार को जिला मुख्यालय पर राजकीय चिकित्सालय का निरीक्षण कर चिकित्सा सेवाओं की जानकारी ली। इस दौरान उन्होंने जिला चिकित्सालय में स्वाइन फ्लू की रोकथाम को किए गये प्रबंधों की समीक्षा की।

राजकीय चिकित्सालय मे चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा ने वार्डो का भ्रमण कर पूरी व्यवस्थाओं का अवलोकन किया। उन्होंने अस्पताल की सफाई व्यवस्था समुचित ढंग से नहीं होने पर प्रमुख चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिए कि वे अस्पताल में सफाई व्यवस्था में सुधार लाने के लिए आवश्यक कार्यवाही करें। चिकित्सा मंत्री शर्मा ने चिकित्सालय में बनाए गए स्वाइन फ्लू के आईसोलेटेड वार्ड का निरीक्षण किया तथा स्वाइन फ्लू से निपटने के लिए किए गए चिकित्सा प्रबंधों की समीक्षा की। उन्होंने स्वाईन फ्लू की स्क्रीनिंग व्यवस्था की जानकारी ली। उन्होंने चिकित्सालय में मौजूद चिकित्सकों से मरीजों के बारे में पूछताछ की एवं भ्रमण कर मरीजों की कुशलक्षेम पूछी। उन्होंने प्रमुख चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिए कि वे वार्ड के चिकित्सक प्रभारी एवं एनएनएम को पाबंद करें कि वे राउण्ड में आते ही सबसे पहले मरीजों को वार्ड में सफाई रखने के लिए के बारे में जानकारी दें। उन्होंने मरीजों को बेहतर चिकित्सा सेवाओं का लाभ दिलाने के भी निर्देश दिए। उन्होंने मुख्यमंत्री निःशुल्क दवा वितरण केन्द्रों का निरीक्षण करने के साथ दवाइयों के वितरण की व्यवस्था के बारे में पूछा। उन्होंने चिकित्सकों को पाबंद किया कि वे बाहर की दवाइयां तथा जांच नहीं लिखें। ऐसा करते पाए जाने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। चिकित्सा मंत्री शर्मा ने जिला चिकित्सालय में कार्यरत प्रतिदिन उपलब्ध चिकित्सकों की जानकारी के लिए अलग-अलग फ्लैक्स लगवाने को कहा।उन्होंने चिकित्सालय में होने वाली निःशुल्क जांचों तथा उपलब्ध दवाइयों की सूची अस्पताल में अलग-अलग स्थानों पर फ्लैक्स लगवाकर चस्पा करने के निर्देश दिए। इस दौरान बाड़मेर विधायक मेवाराम जैन ने राजकीय चिकित्सालय मे मरीजो को अतिरिक्त चिकित्सा सेवाएं एवं जांच सुविधा उपलब्ध कराने के बारे मे चिकित्सा मंत्री को अवगत कराया।

(राष्ट्रीय संभव सन्देश के व्हाट्सएप ग्रुप में ऐड होने के लिए Click यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, और यूट्यूब पर फ़ाॅलो भी कर सकते हैं.)

WhatsApp chat