IND vs AUS : ऑस्ट्रेलिया ने भारत से पर्थ टेस्ट 146 रनों से जीता, सीरीज 1-1 से बराबर

 

 

ऑस्ट्रेलिया ने पर्थ में खेले गए दूसरे टेस्ट में भारत को 146 रन से हरा दिया। इस जीत के बाद ऑस्ट्रेलियाई टीम ने सीरीज को 1-1 से बराबर कर लिया। टेस्ट जीतने के लिए भारत को चौथी पारी में 287 रन बनाने थे, लेकिन टीम इंडिया 140 रनों पर ही सिमट गई। मैच में कप्तान विराट कोहली ने पहली पारी में 123 रन बनाए थे। उनका ऑस्ट्रेलिया में यह छठा शतक था। विराट ने जब भी शतक लगाया भारत नहीं जीता। चार में उसे हार मिली और दो टेस्ट ड्रॉ रहे।

इससे पहले ऑस्ट्रेलिया ने मार्कस हैरिस के 70 रनों की मदद से पहली पारी में 326 रन बनाए थे। उसके जवाब में भारत ने पहली पारी में 283 रन बनाए। कोहली के अलावा अजिंक्य रहाणे ने 51 रन की पारी खेली थी। पहली पारी के आधार पर ऑस्ट्रेलिया को 43 रनों की बढ़त मिली थी। उसने दूसरी पारी में 243 रन बनाकर भारत के सामने 287 रन का लक्ष्य रखा। भारत की ओर से टेस्ट की दूसरी पारी में मोहम्मद शमी ने छह विकेट लिए। वहीं, ऑस्ट्रेलिया के स्पिनर नाथन लियोन ने मैच में आठ विकेट लिए।

ऑस्ट्रेलिया में कोहली के शतक

साल मैदान रन नतीजा
2012 पर्थ 116 (पहली पारी) ऑस्ट्रेलिया 298 रन से जीता
2014 एडिलेड 115 (पहली पारी), 141 (दूसरी पारी) ऑस्ट्रेलिया 48 रन से जीता
2014 मेलबर्न 169 (पहली पारी) ड्रॉ
2014 सिडनी 147 (पहली पारी) ड्रॉ
2018 पर्थ 123 (पहली पारी) ऑस्ट्रेलिया 146 रन से जीता

चौथे दिन ऐसे गिरे भारत के विकेट

लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत की शुरुआत बेहद खराब रही. टीम ने पारी की चौथी ही गेंद पर केएल राहुल का विकेट गंवा दिया, जो खाता खोले बिना ही मिशेल स्टार्क की गेंद को विकेटों पर खेल गए.

एडिलेड में पहले टेस्ट में भारत की जीत के हीरो रहे चेतेश्वर पुजारा भी चार रन बनाने के बाद हेजलवुड की उछाल लेती गेंद पर विकेटकीपर टिम पेन को कैच दे बैठे.

पहली पारी में पांच विकेट चटकाने वाले ऑफ स्पिनर नाथन लियोन ने विराट कोहली (17) को स्लिप में उस्मान ख्वाजा के हाथों कैच कराके मुरली विजय के साथ उनकी 35 रनों की साझेदारी का अंत किया.

भारत के लिए खुशखबरी, टेस्ट टीम में हुई इस स्टार की वापसी

विजय भी 20 रन बनाने के बाद लियोन की गेंद पर बोल्ड हो गए. लियोन की गेंद रफ पर टप्पा खाने के बाद तेजी से अंदर आई और विजय के बल्ले का अंदरूनी किनारे से छूने के बाद लेग स्टंप उखाड़ गई.

अजिंक्य रहाणे और हनुमा विहारी ने इसके बाद पारी को संभालने की कोशिश की. दोनों ने टीम का स्कोर 98 रनों तक पहुंचाया, लेकिन इसके बाद रहाणे (30) की एकाग्रता भंग हुई और वह हेजलवुड की गेंद पर हवा में शॉट खेलकर प्वाइंट पर ट्रेविस हेड को कैच दे बैठे.

भारत के 100 रन 36वें ओवर में पूरे हुए. विहारी और ऋषभ पंत ने हालांकि इसके बाद दिन का खेल खत्म होने तक ऑस्ट्रेलिया को और सफलता नहीं हासिल करने दी.

कोहली-पेन के बीच मैदान पर जमकर हुई बहस, अंपायर ने दी चेतावनी

इससे पहले ऑस्ट्रेलिया की टीम एक समय बड़े स्कोर की ओर बढ़त दिख रही थी, लेकिन करियर की सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी करने वाले मोहम्मद शमी (56 रन पर छह विकेट) और जसप्रीत बुमराह (39 रन पर तीन विकेट) की बदौलत भारत ने उसे 250 रन से कम के स्कोर पर रोक दिया. शमी ने चौथी बार पारी में पांच या इससे अधिक विकेट चटकाए.

WhatsApp chat