भारतीय रेल: आपकी सेवा में”नुकसान” के साथ, मौत सात।

 

भारतीय रेल: आपकी सेवा में”नुकसान” के साथ,मौत सात। सहदेई बुजुर्ग, वैशाली में हुए भीषण रेल दुर्घटना से कई सवाल खड़े हो गए हैं। घटना के कारणों का पता जांच के बाद पता चलेगा पर और कितनी घटना के बाद सुधरेगा भारतीय रेल?

 

मौत पर मातम के बजाए सियासत कब होगी बंद? हर घटना की निष्पक्ष जांच के बाद दोषी को सजा में देर क्यों? रेलवे प्रशासन हर घटना के बाद फिर सुस्त क्यों हो जाती है? पटरी की ससमय देख रेख क्यों नहीं की जाती?

 

जबकि देश के विभिन्न जगहों पर रेल दुर्घटना होती रहती है और यात्रा करने वाले भारतीय रेल में “मुस्कान “के बजाए “नुकसान ” के साथ यात्रा करने को मजबूर हैं क्यों?

आपका साथी मोहम्मद शाहनवाज अता 9934256518

(राष्ट्रीय संभव सन्देश के व्हाट्सएप ग्रुप में ऐड होने के लिए Click यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, और यूट्यूब पर फ़ाॅलो भी कर सकते हैं.)

WhatsApp chat