पुलवामा हमले में जबलपुर का बेटा शहीद, सरकार देगी एक करोड़ रुपए की मदद

 

  • आतंकी हमले में शहीद हुए अश्विनी मझौली के खुड़ावल गांव के रहने वाले थे
  • शहीद के परिवार को मकान और एक सदस्य को सरकारी नौकरी का भी ऐलान

जबलपुर. गुरुवार को कश्मीर के पुलवामा में हुए फिदायीन हमले में जबलपुर के अश्विनी कुमार कांछी (20) शहीद हो गए। शहीद अश्विनी मझौली जनपद के खुड़ावल गांव के निवासी थे। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने पुलवामा हमले में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि दी। राज्य सरकार की तरफ से शहीद के परिवार को एक करोड़ रुपए की आर्थिक मदद, एक आवास और परिवार के एक सदस्य को शासकीय नौकरी दी जाएगी।

जानकारी के मुताबिक, शहीद अश्विनी अपने परिवार में सबसे छोटे थे। अश्विनी के घर में माता-पिता के अलावा पांच भाई-बहन हैं। वह सीआरपीएफ की 35वीं बटालियन में पदस्थ थे। शहादत की खबर गुरुवार रात पिता को फोन पर मिली।

पिता ने परिवार को दिया हौसला 
पिता ने अपने बेटे के शहीद होने की खबर परिवार वालों को दी। अपना दुख भूलकर उन्होंने परिवार का हौसला बढ़ाया। पुलवामा हमले को लेकर परिवार सहित पूरा गांव आक्रोशित है।

बचपन से सेना में जाने का था शौक
पिता ने बताया कि अश्विनी बचपन से सेना में भर्ती होकर देश सेवा करना चाहता था। राजस्थान में ट्रेनिंग पूरी होने के बाद छह महीने पहले ही वे जम्मू-कश्मीर में तैनात हुए थे। घर में इकलौते अश्वनी को ही सरकारी नौकरी मिली थी।

हमें आप पर गर्व: राकेश सिंह 
भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने ट्वीट कर शहीद को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने लिखा कि कायराना आतंकी हमले में जबलपुर जिले के सपूत अश्विनी कुमार कांछी भी शहीद हुए हैं। भारत माता के लिए उनके सर्वोच्च बलिदान को हम कभी नहीं भुला सकेंगे। उन्होंने लिखा कि उमीद है आपके खून का बदला लिया जाएगा। हमे गर्व है जबलपुर की माटी पर आप जैसे वीर पुरुष ने जन्म लिया।

(राष्ट्रीय संभव सन्देश के व्हाट्सएप ग्रुप में ऐड होने के लिए Click यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, और यूट्यूब पर फ़ाॅलो भी कर सकते हैं.)

WhatsApp chat