सिब्बल एक मामले में अनिल अंबानी के वकील, राफेल पर विरोध भी कर रहे; लोगों ने उड़ाया मखौल

  • सिब्बल ने राफेल मुद्दे पर अनिल अंबानी के खिलाफ ट्वीट किया, फिर एक मामले में उनके वकील बनकर कोर्ट पहुंचे
  • एक यूजर ने कहा- कांग्रेस कितनी नीचे जाएगी, इसकी कोई सीमा नहीं

नई दिल्ली. कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने मंगलवार को राफेल मुद्दे पर अनिल अंबानी के खिलाफ एक ट्वीट किया। इसके 40 मिनट बाद वह एक अन्य मामले में अनिल की तरफ से कोर्ट में पेश हुए। इसको लेकर सोशल मीडिया पर लोगों ने सिब्बल को आड़े हाथ लिया। एक यूजर ने लिखा, “कांग्रेस कितनी नीचे जाएगी, इसकी कोई सीमा नहीं है। राफेल पर राहुल गांधी जिस व्यक्ति पर निशाना साध रहे हैं, उसी व्यक्ति को उनकी पार्टी बचा रही है। न तो नैतिकता बची है और न ही शर्म।”

सोशल मीडिया पर ट्रोल हुए सिब्बल

    • @गांधीमुक्तभारत ने लिखा- “कपिल सिब्बल की राजनीति और कानून का करियर खत्म होना चाहिए।”
    • निखिल वाघले ने ट्वीट किया, “सिब्बल के चलते ही हमेशा से कांग्रेस मुसीबत में पड़ती रही है।”
    • @दिवआरआर यूजर ने लिखा, “सिब्बल बाबर के पोते और पूर्णकालिक जिहादी हैं।”
    • @दलुल्ज यूजर ने कहा, “कपिल सिब्बल को पहले से पता था कि अनिल अंबानी फ्रांस जाने वाले हैं।”
    • अरविंद माहेश्वरी ने लिखा, “सच तो यह है कि सिब्बल समेत कई कांग्रेसियों को राहुल गांधी की परवाह ही नहीं है। वे उन्हें (राहुल) केवल लूट जारी रखने का वाहक मानते हैं।”
    • अभिजीत मजूमदार ने लिखा, “कपिल सिब्बल राफेल मुद्दे पर कोर्ट में अनिल अंबानी के बचाव में खड़े होते हैं। वह पार्टी की तरफ से राफेल पर अनिल पर सवाल भी उठाते हैं। याद रखिए दोस्तो, गंदा है पर धंधा है ये।”
  1. ‘सरकार का झूठ सामने आया’

    सिब्बल ने मंगलवार को सुबह 9.51 बजे अनिल अंबानी के खिलाफ ट्वीट किया। सिब्बल ने लिखा- “लगता है कि एयरबस, फ्रांस सरकार, अनिल अंबानी सभी को पता था कि फ्रांस दौरे पर प्रधानमंत्री एमओयू पर दस्तखत करेंगे। सरकार का झूठ सामने आ गया।”

  2. इसके बाद वह मानहानि के मामले में अंबानी को व्यक्तिगत पेशी से छूट दिलवाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में भी हाजिर थे। 550 करोड़ रुपए का भुगतान नहीं करने पर टेलीकॉम कंपनी एरिक्सन इंडिया की याचिका पर कोर्ट ने उन्हें नोटिस भेजा था। हालांकि, इस मामले की सुनवाई कोर्ट ने बुधवार तक के लिए टाल दी। बाद में एक चैनल ने सिब्बल के हवाले से कहा कि राफेल विवाद सामने आने से काफी पहले से वह अंबानी के लिए वकालत कर रहे हैं।

(राष्ट्रीय संभव सन्देश के व्हाट्सएप ग्रुप में ऐड होने के लिए Click यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, और यूट्यूब पर फ़ाॅलो भी कर सकते हैं.)

WhatsApp chat