स्वामी स्वरुपानंद के सानिध्य में तीन दिवसीय परमधर्म संसद आज से, राम मंदिर निर्माण रहेगा मुख्य मुद्दा

 

  • सौ से अधिक देशों के संत होंगे शामिल
  • राम मंदिर, गो, गंगा रक्षा, मंदिर रक्षा आदि मुद्दों पर जारी होगा धर्मादेश
  • 30 जनवरी को होगा समापन

प्रयागराज (इलाहाबाद). ज्योतिष एवं द्वारका शारदा पीठाधीश्वर जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी स्वरुपानंद सरस्वती के सानिध्य में सोमवार से संगम की रेती पर तीन दिवसीय परमधर्म संसद होगी। जिसमें सौ से अधिक देशों के प्रतिनिधि हिस्सा लेंगे। इस दौरान गंगा रक्षा, राम जन्म भूमि, गौ रक्षा, मंदिर रक्षा, पर्यावरण रक्षा, धर्मांतरण, संस्कृति शिक्षा आदि मुद्दों पर चर्चा होगी। 30 जनवरी को परम धर्म संसद का समापन होगा और संतों का धर्मादेश जारी होगा। माना जा रहा है कि, अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का खाका परमधर्म संसद से तैयार किया जाएगा।

इससे पहले काशी में हुई थी परम धर्म संसद
कुंभ नगरी से पहले शंकराचार्य स्वामी स्वरुपानंद सरस्वती की अगुवाई में वाराणसी में तीन दिवसीय परम धर्म संसद आयोजित की गई थी। इसमें भी गंगा, गोरक्षा व राम मंदिर का मुद्दा छाया रहा था। शंकराचार्य ने तब कुंभ नगरी में होने वाली धर्म संसद से राम मंदिर निर्माण की तारीखों का ऐलान करने व शिलान्यास का खाका खींचने का ऐलान किया था।

सत्ता में बैठे लोग मंदिर का निर्माण नहीं करा सकते
शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती कहते हैं कि राम मंदिर निर्माण को लेकर संत व जनता को गुमराह किया गया है। सत्ता में बैठे लोग मंदिर का निर्माण नहीं करा सकते। वह प्रयाग से राम मंदिर मामले को दिशा देंगे। यहीं से मंदिर के लिए शिलान्यास का खाका तैयार किया जाएगा।

 

यह भी होंगे कुंभ नगरी में कार्यक्रम- 

  • ब्रह्मकुमारीज के सत्यम, शिवम सुंदरम पंडाल में शिक्षाविद् सम्मेलन।
  • अक्षयवट मंच के सेक्टर चार में केरवानो वेश राजेन्द्र रावल, वाराणसी के नादार्चनम सुखदेव मिश्र, अवधी लोक गायन आश्रया द्विवेदी, रूस व मास्को की रासलीला व रामलीला का मंचन।
  • ऋषि भारद्वाज के मंच से शर्मिला गादले, दीपमाला सचान, आस्था गोस्वामी, अमरनाथ वर्मा का सांस्कृतिक कार्यक्रम।
  • यमुना मंच सेक्टर 17 में सूफी गायन, चकरी लोक नृत्य, राजस्थानी नृत्य, पांडवानी गायन का आयोजन।
  • सेक्टर 13 में सरस्वती मंच पर गोबर्ध मयूर पारी नृत्य, आल्हा गायन, राजपुताना होली, देश भक्तिगीत, हरीशचन्द्र की लड़ाई व बटोही नाटक का मंचन।
  • सेक्टर चार में त्रिवेणी मंच पर रोनू मजूमदार की बांसुरी वादन, व मंजूषा पाटिल का गायन।
  • अरैल घाट मंच सेक्टर 19 में राजूभाई वासवा का गुजरात होली नृत्य, श्याम मिरासी की कच्ची घोड़ी, मुकेश भट्ट की पपेटरी शो।
  • अरैल घाट मंच दो के सेक्टर 19 में रजनीश मिश्रा का गायन एवं सुश्री प्रियदर्शिनी गोविंद द्वारा भरतनाट्यम नृत्य की प्रस्तुति।

रविवार को कुंभ नगरी पहुंचे थे पूर्व सीएम अखिलेश

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने रविवार प्रयागराज पहुंचे थे। उन्होंने कुंभ नगरी में संतों का आशीर्वाद लिया और त्रिवेणी में डुबकी लगाई। इसके बाद अखिलेश ने संगम स्थित बड़े हनुमानजी के भी दर्शन किए और राष्ट्रीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी जी महाराज के मेला स्थित आश्रम में गए थे।

(राष्ट्रीय संभव सन्देश के व्हाट्सएप ग्रुप में ऐड होने के लिए Click यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, और यूट्यूब पर फ़ाॅलो भी कर सकते हैं.)

WhatsApp chat