बुलंदशहर हिंसा: बजरंग दल नेता योगेश राज गिरफ्तार, इंस्पेक्टर समेत हुई थी दो की मौत

 

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में हिंसा का मुख्य आरोपी योगेश राज गिरफ्तार कर लिया गया है. बीती रात पुलिस के कब्जे में आया योगेश राज, कई दिनों से फरार चल रहा था. योगेश राज बजरंग दल का जिला संयोजक है. पुलिस के मुताबिक बुलंदशहर के खुर्जा कस्बे से उसकी गिरफ्तारी की गई है. पुलिस उससे पूछताछ कर रही है और आज दोपहर बाद उसे अदालत में पेश किया जाएगा.

मेरठ जोन के अपर पुलिस महानिदेशक प्रशांत कुमार ने योगेश राज की गिरफ्तारी की पुष्टि की है. उन्होंने बताया कि योगेश राज को खुर्जा के ब्रह्मानंद कॉलेज के पास गिरफ्तार किया गया है.

3 दिसंबर को बुलंदशहर के महाव गांव में गौकशी के बाद योगेश राज और आसपास के ग्रामीण मौके पर पहुंचे थे. मौके पर पहुंची पुलिस का विरोध करते हुए योगेश राज ने अपने साथियों के साथ गायों के अवशेषों को एक ट्रैक्टर-ट्रॉली में भरा और उसे लेकर चिंगरावठी चौकी पर आ गया. ट्रैक्टर-ट्रॉली से बुलंदशहर गढ़ हाईवे जाम कर दिया गया और वहां इकट्ठा हुए सैकड़ों लोगों ने चौकी पर जमकर बवाल काटा. भीड़ ने आगजनी और पथराव किया और भीड़ से मोर्चा लेने वाले इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गई. भीड़ ने पुलिस की कई गाड़ियों में आग भी लगा दी.

योगेश राज को हिंसा, आगजनी मामले में दर्ज मुकदमे में मुख्यारोपी बनाया गया था. योगेश राज के अलावा भारतीय जनता युवा मोर्चा का स्याना नगर अध्यक्ष शिखर अग्रवाल भी इस मामले में आरोपी है. शिखर अग्रवाल अभी भी फरार है. केस में नाम आने के बाद दोनों आरोपियों ने अपनी फरारी के दौरान सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल कर खुद को बेकसूर बताया था. दोनों ने पुलिस पर इलाके में गोकशी कराने के आरोप भी मढ़े थे.

बजरंग दल के जिला संयोजक योगेश राज की गिरफ्तारी में देर होने के चलते  विपक्षी दलों ने पुलिस के ऊपर राजनीतिक दबाव का आरोप लगाया था. इस मामले के आरोपी भारतीय जनता युवा मोर्चा के नगर अध्यक्ष शिखर अग्रवाल और अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद के नेता उपेंद्र राघव अभी भी फरार है.

ऐसे हुई थी हिंसा, आगजनी और इंस्पेक्टर की हत्या
तीन दिसंबर को स्याना थानाक्षेत्र के महाव गांव के एक खेत में गायों के अवशेष मिले थे. ग्रामीणों ने वहां हिंदूवादी संगठनों के नेताओं को बुला लिया. आरोप है कि बजरंगदल के जिला संयोजक योगेश राज और भारतीय जनता युवा मोर्चा के स्याना नगर अध्यक्ष शिखर अग्रवाल ने ग्रामीणों का नेतृत्व करते हुए अवशेषों को ट्रॉली में लादा और चिंगरावठी चौकी पर ले आये.

बुलंदशहर-गढ़ हाईवे जाम करके भीड़ प्रदर्शन करने लगी. मौके पर पहुंची पुलिस ने जब जाम खुलवाने की कोशिश की तब पुलिस के ऊपर पथराव किया गया. इसी दौरान एक प्रदर्शनकारी सुमित को गोली लगी जिसके बाद स्याना के प्रभारी निरीक्षक इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गई.

भीड़ ने उस दौरान जमकर गाड़ियों में तोड़फोड़ और आगजनी की. पुलिस ने बजरंग दल के जिला संयोजक योगेश राज को मुख्य आरोपी बनाते हुए केस दर्ज किया था मगर उसकी गिरफ्तारी अभी तक नहीं हो पाई है.

WhatsApp chat