मोदी की सांसदों को नसीहत- मंत्री पद की लालच में गुमराह न हों, अफवाह से बचें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रचंड जीत के बाद एनडीए की संसदीय दल के नेताओं के साथ बैठक की. बैठक में मोदी ने पहली बार सांसद बने जनप्रतिनिधियों और मंत्री बनने की लालसा पाल बैठे सांसदों को गुमराह करने वाले लोगों से बचने की नसीहत दी.

धानमंत्री के रूप में दूसरे कार्यकाल की शुरुआत करने जा रहे नरेंद्र मोदी ने कहा कि कई लोग मंत्री बनवाने में लगे हैं. मंत्रिमंडल गठन से पहले कई नाम मीडिया में आएंगे, टीवी में आएंगे, लेकिन आपको सावधान रहने की जरूरत है. ऐसे किसी भी अफवाह में ना आएं. मोदी ने कहा कि इस देश में बहुत ऐसे नरेंद्र मोदी पैदा हो गए हैं, जिन्होंने मंत्रिमंडल बना दिया है. अगर सबका टोटल करेंगे तो 40-50 सांसद ही रह जाएंगे जो मंत्री नहीं बन पाएंगे. ये सबसे बड़ा संकट है.

मोदी ने कहा कि मैं हैरान हो जाता हूं कि लोग कैसे-कैसे झूठ बोलते हैं. कई लोग पीएमओ से बात करने हवाला देकर सांसदों को गुमराह करते हैं कि आपका नाम मंत्रिमंडल में शामिल कर लिया गया है. ऐसे गुमराह करने वाले लोगों से बचकर रहना है. अगर किसी सांसद को मंत्री बनने के संबंध में हेडक्वॉर्टर से फोन आता है तो भी वे वैरिफाइ करें.

सेवाभावी आपको पंगु बना देंगे

मोदी ने कहा कि दिल्ली में ऐसा गैंग रहता है, जो नए जनप्रतिनिधियों को टारगेट करता है और उनके सेवाभाव में जुट जाता है. इस तरह की सेवाभाव करने वालों से बचकर रहना है. ये सेवाभावी आपकी बहुत सेवा करेंगे और आपको पंगु बना देंगे. आपको पता चलने के बाद भी आप उन्हें निकाल नहीं सकते हैं. दिल्ली में ऐसी चीजें बहुत होती हैं, इनसे बचना है. पीएम ने कहा कि मेरे जीवन के कई पड़ाव रहे, इसलिए मैं इन चीजों को भली-भांति समझता हूं, मैंने इतने चुनाव देखे, हार-जीत सब देखे, लेकिन मैं कह सकता हूं कि मेरे जीवन में 2019 का चुनाव एक प्रकार की तीर्थयात्रा थी.

नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमारी बोली हमें संकट में डाल देती है. नवनिर्वाचित सांसदों को ताकीद करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि मीडिया को नमूनों के बारे में पता होता है. पीएम ने कहा कि छपास और दिखास से बचना चाहिए. इससे अगर बचकर चलते हैं तो बहुत कुछ बचा सकते हैं. उन्होंने सांसदों से वीआईपी संस्कृति से बचने को भी कहा. उन्होंने कहा कि सांसदों को जरूरत पड़ने पर अन्य नागरिकों की तरह कतारों में भी खड़ा होना चाहिए.

(राष्ट्रीय संभव सन्देश के व्हाट्सएप ग्रुप में ऐड होने के लिए Click यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, और यूट्यूब पर फ़ाॅलो भी कर सकते हैं.)

WhatsApp chat