रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने पाकिस्तान को आतंक से लड़ाई में मदद के लिए सेना भेजने की पेशकश की

करनाल (हरियाणा). रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने पाकिस्तान को आतंक से लड़ाई में मदद के लिए सेना भेजने की पेशकश की है। उन्होंने कहा, “मैं पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को एक सलाह देना चाहता हूं। अगर आप आतंकवाद से लड़ाई को लेकर गंभीर हैं, तो हम आपकी सहायता के लिए तैयार हैं। अगर आपको सैन्य सहायता चाहिए, तो हम भारत की सेना को आपकी मदद के लिए भेज देंगे।”

रक्षा मंत्री ने कश्मीर पर इमरान खान के रवैये को लेकर उनकी आलोचना की। उन्होंने इमरान के भाषण का जिक्र करते हुए कहा कि वो कश्मीर के मुद्दे पर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर संघर्ष की बात कहते हैं। उन्हें इसका ख्याल भी मन से निकाल देना चाहिए। कश्मीर को लेकर हम पर कोई दबाव नहीं डाल सकता।

शस्त्र पूजा को लेकर कांग्रेस पर भी बरसे

इससे पहले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने राफेल विमान मिलने के बाद, शस्त्र पूजा की आलोचना करने पर कांग्रेस पर निशाना साधा था। उन्होंने कहा, ऐसे बयानों से पाकिस्तान को ताकत मिलती है।

राजनाथ सिंह ने कहा, “हमें एक नया विमान मिला है, जो बेहद ताकतवर है। इसे इस्तेमाल करने से पहले हमें शस्त्र पूजा करनी थी, इसलिए मैंने लड़ाकू विमान पर ‘ऊँ’ लिखा और उसे रक्षा सूत्र बांधा। कांग्रेस नेताओं ने इस पर भी विवाद खड़ा कर दिया। क्या आप ‘ऊँ’ शब्द पर आपत्ति जता रहे हैं। क्या हम अपने घर पर ‘ऊँ’ नहीं लिखते हैं।”

राजनाथ ने दूसरे धर्मों का हवाला दिया

राजनाथ सिंह ने दूसरे धर्मों का हवाला देने के बाद कहा कि उन्हें भारत को राफेल मिलने का स्वागत करना चाहिए था। इसके बजाय, उन्होंने आलोचना शुरु कर दी। कांग्रेस नेताओं के बयान केवल पाकिस्तान को मजबूती देते हैं।

राफेल के जरिए भारत में बैठकर आतंकी कैंप नष्ट कर सकते थे

बालाकोट एयर स्ट्राइक का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि अगर देश के पास राफेल होता, तो पाकिस्तान जाने की जरूरत नहीं पड़ती। राजनाथ ने कहा, “अगर हमारे पास राफेल विमान होता, तो मेरा मानना है कि बालाकोट एयर स्ट्राइक के लिए हमें पाकिस्तान नहीं जाना पड़ता। हम भारत में बैठकर ही वहां के आतंकी कैंपों को नष्ट कर सकते थे।”

पिछले सप्ताह फ्रांस में पहला राफेल मिलने पर राजनाथ सिंह ने विमान पर ‘ऊँ’ लिखा था। उस पर फूल और नारियल भी रखे थे। राफेल के पहिए के नीचे नींबू भी रखे गए थे।

कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने राजनाथ की शस्त्र पूजा को तमाशा कहा था। उदित राज ने भी इस पर आपत्ति जताते हुए कहा था, जिस दिन अंधविश्वास का अंत होगा, भारत खुद ऐसे लड़ाकू विमान बना लेगा।

(राष्ट्रीय संभव सन्देश के व्हाट्सएप ग्रुप में ऐड होने के लिए Click यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, और यूट्यूब पर फ़ाॅलो भी कर सकते हैं.)

WhatsApp chat