चीन में आज से शूकर नववर्ष

  • चीन में दिलचस्प है नए साल और जानवरों की कहानी
  • साल 2019 ईयर ऑफ द पिग यानी शूकर के नाम
  • चीनी राशि चक्र में 12 जानवर, हर एक जानवर नए साल से जुड़ा

लाइफस्टाइल डेस्क. 5 फरवरी से शुरू होने वाले चीनी नववर्ष को ‘लूनर न्यू ईयर’ के नाम से भी जाना जाता है। नए साल की शुरुआत चांद पर आधारित कैलेंडर के पहले महीने की पहली तारीख से होती है। 15 दिनों तक चलने वाले नए साल का समापन लालटेन उत्सव के साथ होगा। चीनी राशि चक्र के मुताबिक, हर नया साल किसी जानवर से जुड़ा होता है। साल 2019 ईयर ऑफ द पिग यानी शूकर के नाम है। पिछला साल कुत्ते के नाम था। चीनी राशि चक्र में 12 जानवर शामिल हैं। इसके पीछे की कहानी भी काफी दिलचस्प है।

12 जानवर इस तरह राशियों का हिस्सा बने

  1. कहा जाता है कि पुराने समय में जेड सम्राट ने आदेश दिया कि जानवर कैलेंडर का हिस्सा बनेंगे। इसके लिए चयन रखा गया, जिसमें सभी को दोपहर 12 बजे से पहले आने को कहा गया। तब चूहे और बिल्ली अच्छे दोस्त हुआ करते थे। जब उन्होंने यह खबर सुनी तो उन्होंने इसमें जल्दी जाने का तय किया। बिल्ली ने कहा कि मैं देर से उठती हूं तो तुम सुबह मुझे जगा देना। चूहे ने भी इसके लिए हामी भर दी लेकिन सुबह वो बिल्ली को उठाना भूलकर अकेले ही चला गया।
  2. रास्ते में घोड़ा, बैल, खरगोश और भी दूसरे जानवर मिले जो चूहे से बहुत तेज भाग रहे थे। चूहे ने चालाकी दिखाते हुए बैल की पीठ पर बैठने की योजना बनाई। यह शर्त रखी कि वो रास्ते में गाना सुनाएगा। दोनों पहले पहुंचे लेकिन चूहे ने पहले कूदकर बाजी मार ली और पहला भाग्यशाली जानवर बन गया।
  3. बिल्ली तभी से चूहे की दुश्मन बन गई क्योंकि उसके पहुंचने तक चयन खत्म हो चुका था। इसके बाद चीता, खरगोश, फ्लाइंग ड्रैगन, घोड़ा, सांप, बकरी, बंदर, मुर्गा, कुत्ता और सुअर क्रमश: 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10,11 और 12वें पायदान पर रहे। कालांतर में इसी के हिसाब से नववर्ष में जानवरों का क्रम तय किया गया।
  4. कैसे तय होता है जानवर का नाम

    चीनी राशि चक्र के अनुसार हर साल एक जानवर से संबंधित होता है। हर 12 साल में यह चक्र दोहराया जाता है। हर साल नए साल की तारीख अलग-अलग होती है। चीनी राशि चक्र के अनुसार, 2019 ‘ईयर ऑफ द पिग’ है। अब अगला पिग ईयर 12 साल बाद 2031 में मनाया जाएगा।

  5. जानवरों को दो भागों में बांटा गया है यिन और यांग। उनके पंजे या पैर की उंगलियां ऑड हैं या ईवन, इसके आधार पर उन्हें किस वर्ग में रखा जाए ये तय किया जाता है। चीनी एस्ट्रोलॉजी के मुताबिक, हर किसी के जन्म के वर्ष का प्रतिनिधित्व एक पशु करता है जो आपकी पर्सनैलिटी और लाइफ के बारे में काफी कुछ कहता है।
  6. इसी आधार पर चीन में 12 वर्षो को अलग-अलग पशुओं के संकेतों के रूप में मनाया जाता है। चूहा, बैल, बाघ, खरगोश, ड्रैगन, सांप, घो़ड़ा, बकरी, बंदर, मुर्गा, कुत्ता और सूअर, ये 12 पशु इसके लिए निर्धारित किए गए हैं।
  7. पिछले 12 साल में इन जानवरों के नाम रहा नया साल

     नए साल की शुरुआत जानवर
     18 फरवरी, 2007  सुअर
     07 फरवरी, 2008  चूहा
     26 जनवरी, 2009  बैल
     14 फरवरी, 2010  चीता
     03 फरवरी, 2011  खरगोश
     23 जनवरी, 2012  ड्रैगन
     10 फरवरी, 2013  सांप
     31 जनवरी, 2014  घोड़ा
     19 फरवरी, 2015  भेड़
     08 फरवरी, 2016  बंदर
     28 जनवरी, 2017  मुर्गा
     16 फरवरी, 2018  कुत्ता
     05 फरवरी, 2019  सुअर
  8. चीनी समय का भी ये जानवर हिस्सा हैं

    चीनी राशियों में शामिल जानवर यहां के समय का भी हिस्सा हैं। हर समय अंतराल को एक-एक जानवर को समर्पित किया गया है।

    • चूहा: 11PM से 1 AM
    • बैल: 1 AM से 3 AM
    • टाइगर: 3 AM से 5 AM
    • खरगोश: 5AM से 7 AM
    • ड्रैगन: 7 AM -9 AM
    • सांप: 9 AM से 11 AM
    • घोड़ा: 11 AM से 1PM
    • बकरी: 1 PM से 3 PM
    • बंदर: 3PM से 5 PM
    • मुर्गा: 5 PM से 7 PM
    • कुत्ता: 7 PM से 9 PM
    • शूकर : 9 PM 11 PM

(राष्ट्रीय संभव सन्देश के व्हाट्सएप ग्रुप में ऐड होने के लिए Click यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, और यूट्यूब पर फ़ाॅलो भी कर सकते हैं.)

WhatsApp chat